किसान और सरकार की 11वें दौर की बैठक, कानून खत्म करने पर अड़े किसान नेता

armers-protest-11th-round-talks-between-centre-govt-and-farmers-unions-on-farm-laws - Sakshi Samachar

12 से 18 महीने तक निलंबित करने का प्रस्ताव

किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकरा दिया

नई दिल्ली: केंद्र सरकार (central government) के तीन नए कृषि कानूनों (Agricultural laws) को लेकर करीब दो महीने से किसानों और सरकार के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए शुक्रवार को तीन केन्द्रीय मंत्रियों ने किसान समूहों के प्रतिनिधियों के साथ 11वें दौर की वार्ता जारी है। 

बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और सोमप्रकाश मौजूद हैं। अब देखना होगा आज बैठक में किसानों की समस्या को लेकर हल निकलता है या नहीं। 

पिछले चरण की वार्ता बुधवार को हुई थी, जिसमें केंद्र ने तीनों कानूनों के क्रियान्वयन को 12 से 18 महीने तक निलंबित करने तथा मुद्दों के समाधान के लिए संयुक्त समिति बनाने का प्रस्ताव दिया था। हालांकि बृहस्पतिवार को किसान संघों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकरा दिया और अपनी दो मांगों पर अड़े रहे- पहली तो यह कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए और दूसरी यह कि न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दी जाए। 

यह भी पढ़ें: नार्थ ईस्ट के विकास में जुटी है सरकार, संभावनाओं का लाभ उठाएं युवा : पीएम मोदी

किसान समूहों ने कहा कि वे प्रदर्शन जारी रखेंगे और गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली भी निकालेंगे। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रेलवे, वाणिज्य और खाद्य मंत्री पीयूष गोयल तथा वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश यहां विज्ञान भवन में करीब 41 किसान संघों के प्रतिनिधियों से वार्ता कर रहे हैं। 
 

Advertisement
Back to Top