अब वाराणसी में कर सकेंगे भगवान तिरूपति के दर्शन, CM जगनमोहन को भाया 'क्लीन यूपी ग्रीन यूपी कैंपेन

AP Cities Now Will Be Develop Like Holy City Varanasi  - Sakshi Samachar

वाराणसी :  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का 'क्लीन यूपी-ग्रीन यूपी' कैंपेन (Clean UP Green UP Compagin) अब देश के अन्य राज्यों को पसंद आने लगा  है। बाबा विश्वनाथ ( Baba Vishwanath) की  नगरी काशी ( Kashi) की स्वच्छता, आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) सरकार को इस कदर पसंद आई है कि सीएम वाई एस जगनमोहन रेड्डी (CM YS Jagan Mohan Reddy) अपने राज्य में भी काशी की स्वच्छता प्रणाली को लागू करने की तैयारी कर रहे हैं। 

वेस्ट प्रबंधन  की योजना शुरू करने की तैयारी में है एपी सरकार
सीएम जगनमोहन ने अपने चीफ सेक्रेटरी प्रवीण प्रकाश को काशी आकर यहां के सॉलिड और लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था का अध्ययन करने का निर्देश दिया है। रेड्डी के निर्देश पर प्रवीण प्रकाश 28-29 नवंबर को इस बाबत वाराणसी आएंगे। वे स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर आंध्र प्रदेश के अधिकारी 'बनारस प्रणाली' का अध्ययन करेंगे।

एपी सरकार ने पत्र भेजकर की योगी सरकार के काम की तारीफ
आंध्र प्रदेश सरकार ने  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय को पत्र भेजकर  'नमामि गंगे' कार्यक्रम अंतर्गत बनारस में हुए कार्यों की तारीफ की है। आंध्र प्रदेश सरकार अपने शहरी और रूरल इलाकों में सॉलिड और लिक्विड वेस्ट प्रबंधन की योजना शुरू करने की तैयारी में है।

देश-विदेश में हो रही प्रशंसा
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र 'काशी' में नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत हुए कार्यों की देश-विदेश में काफी तारीफ हो रही है। अविरल और निर्मल गंगा के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सीएम योगी आदित्यनाथ संकल्पित हैं। मां गंगा में बहते कचरों को रोकने और घाटों को स्वच्छ बनाने के लिए बड़े पैमाने काम किया जा रहा है। सीवेज प्लांट संयंत्रों से घाटों की स्थिति सुधारने और गंगा नदी के सतह की सफाई करने के लिए काशी में समय- समय पर कई कदम उठाए जा रहे हैं, ताकि इस पावन नदी को पॉल्यूशन फ्री बनाया जा सके। गंगा नदी में कचरे की समस्या को दूर करने के लिए भी नियोजित प्रयास किए गए हैं।

काशी में तिरुपति तिरुमला देवस्थानं द्वारा होगी मन्दिर की स्थापना
आंध्र प्रदेश के विश्व प्रसिद्ध तिरुपति मन्दिर ट्रस्ट महादेव की नगरी काशी में एक मंदिर की स्थापना के लिए प्रयासरत है। तिरुपति तिरुमला देवस्थानं ट्रस्ट की ओर से प्रस्तावित यह मंदिर करीब 05 एकड़ में होगा, जिसके लिए आंध्र प्रदेश के अधिकारी 28-29 नवम्बर को वाराणसी भ्रमण के दौरान भूमि की तलाश भी करेंगे।

Advertisement
Back to Top