सुशील मोदी का लालू पर बड़ा आरोप, जेल से सरकार गिराने की साजिश कर रहे हैं RJD सुप्रीमो

Sushil Modi accused lalu yadav of luring NDA MLAs to make them Ministers  - Sakshi Samachar

पटना : बिहार में विधानसभा पद के अध्यक्ष चुने जाने वाले हैं। इससे पहले ही बिहार(Bihar) सरकार गिराने की साजिश का आरोप सामने आ रहा है। बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी(RJD) सुप्रीम को लालू प्रसाद यादव(Lalu Yadav) पर राज्य में एनडीए(NDA) सरकार गिराने की साजिश का आरोप लगाया है। 

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि लालू यादव रांची से एनडीए के विधायकों को फोन कर रहे हैं और उन्हें मंत्री पद देने का वादा कर रहे हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले ही नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य में एनडीए की सरकार का गठन हुआ है। राज्य की 243 सीटों की विधानसभा में एनडीए के पास 125 सीटें हैं जबकि महागठबंधन के पास 110 सीटें हैं। एलजेपी के पास 1 सीट और 7 सीटें अन्य के खाते में हैं।

चुनाव नतीजों से पूर्व आए बिहार चुनाव अनुमानों में राज्य में महागठबंधन की सरकार बनती दिख रही थी। लेकिन नतीजे तमाम अनुमानों के खिलाफ आए हैं। बिहार में एनडीए की सरकार का गठन हो चुका है और मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार ने सातवीं बार शपथ ले ली है। इस बार की सरकार में दो उपमुख्यमंत्री बनाए गए हैं और पिछली सरकार में उपमुख्यमंत्री रह चुके सुशील कुमार मोदी को मंत्रिमंडल में भी जगह नहीं मिली है।

ट्वीट के साथ जारी किया फोन नंबर 
आरोप लगाते हुए सुशील मोदी ने ट्वीट में एक नंबर भी जारी किया है। उन्होंने कहा कि जानकारी मिलने के बाद मैंने लालू प्रसाद यादव को 8596XXXXX पर कॉल किया तो लालू यादव ने सीधे उठाया, जिसपर मैंने कहा कि जेल से ये गंदी हरकतें मत करें, आप सफल नहीं होंगे।' आरजेडी प्रमुख इस समय चारा घोटाला मामलों में राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, रांची के अधीक्षक के बंगले में हैं।

राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे राजद प्रमुख के खिलाफ बीजेपी के वरिष्ठ नेता की ओर से लगाए गए नए आरोपों से आने वाले दिनों में राज्य में सत्तारूढ़ विपक्ष और विपक्ष के बीच टकराव तेज होने की संभावना है। कई लोग ये भी महसूस कर रहे हैं कि ये बताता है कि कैसे एनडीए के पास विकासवादी इंसाफ पार्टी (वीआईपी) और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा-सैकुलर (एचएएम) (एस) जैसे छोटे सहयोगियों का समर्थन है।

आरजेडी प्रवक्ता- सुशील मोदी फोबिया से पीड़ित
आरोप को लेकर आरजेडी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि सुशील मोदी द्वारा लगाए गए आरोप सभी निराधार है। ये बीजेपी के वरिष्ठ नेता द्वारा सुर्खियों में बने रहने का प्रयास था। “मोदी लालू फोबिया से पीड़ित हैं। इस बार डिप्टी सीएम का पद नहीं दिए जाने के बाद वो सुर्खियों में बने रहने के लिए ये सभी आरोप लगा रहे हैं। एनडीए के विधायकों को लुभाने के ये सभी आरोप निराधार और मनगढ़ंत हैं।

इसे भी पढ़ें : 

सुशील मोदी से क्यों छीन ली गई डिप्टी सीएम की कुर्सी, ये हैं वो 5 असली कारण

वहीं इस जदयू के मंत्री नीरज कुमार ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अब ये खुलासा हो चुका है कि लालू यादव जेल में बैठकर राजनीति कर रहे हैं। विधायकों को प्रलोभन दे रहे हैं। प्रमाणित हो चुका है। तेजस्वी यादव को शर्म करनी चाहिए कि वो इस तरह के खेल में शामिल हैं। ये लोग कभी सफल नहीं हो पाएंगे।

विधानसभा अध्यक्ष के लिए वोटिंग 
इस बार बिहार विधानसभा के अध्यक्ष का चयन इस बार निर्विरोध नहीं होगा। इस बार विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए महागठबंधन ने भी अपना प्रत्याशी मैदान में उतार दिया है। एनडीए की ओर से विजय सिन्हा उम्मीदवार बनाए गए हैं। जबकि कांग्रेस, आरजेडी और वाम दल वाले महागठबंधन की ओर से आरजेडी के विधायक अवध बिहारी चौधरी स्पीकर के उम्मीदवार होंगे। 25 नवंबर यानी बुधवार को नए विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा।

चार विधायकों ने नहीं ली शपथ 
17वें बिहार विधानसभा के पहले सत्र के दौरान चार विधायकों को छोड़कर शेष 241 विधायकों ने सदन की सदस्यता ग्रहण कर ली। जिन विधायकों ने शपथ नहीं ली, उनमें निर्मली के विधायक अनिरुद्ध प्रसाद यादव, जीरादेई विधानसभा से निर्वाचित अमरजीत कुशवाहा, गोपालपुर से निर्वाचित नरेंद्र कुमार नीरज और मोकामा से निर्वाचित विधायक अनंत कुमार सिंह शामिल हैं।

Related Tweets
Advertisement
Back to Top