कोरोना के चलते लालू के परिवार में लौट सकती है खुशियां, एक साथ नजर आएगा परिवार

RJD Chief Lalu Prasad Yadav Can Get Parole due to Coronavirus - Sakshi Samachar

 जेल में कैदियों को कम करने का निर्देश 

 पैरोल पर जेल से बाहर आ सकते हैं लालू

लालू प्रसाद चारा घोटाले के कई मामले में काट रहे सजा

रांची : कोरोना संकट के बीच राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिजनों के लिए एक राहत भरी खबर आई है। झारखंड सरकार सर्वोच्च न्यायालय के उस फैसले पर विचार कर रही है जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए जेल में कैदियों को कम करने का निर्देश दिया है।

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने इस बात की पुष्टि भी की है। उन्होंने बताया, "सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश के आलोक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ वार्ता हुई है, जिसमें जेल में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए कैदियों को पैरोल पर छोड़ने का निर्देश दिया गया है।"

चारा घोटाले के कई मामलों में सजा काट रहे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के विषय में पूछने पर उन्होंने स्पष्ट तो ज्यादा कुछ नहीं कहा लेकिन इतना जरूर कहा, "लालू प्रसाद हम सभी के सम्मानित नेता हैं। सर्वोच्च न्यायालय के गाईडलाइंस पर उन्हें पैरोल मिलना ही चाहिए। राज्य भर के वैसे सभी कैदियों का भी ध्यान रखा जाएगा। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर सरकार गंभीर है।"

यह भी पढ़ें :

बिहार में कोरोना के साथ चमकी बुखार की शुरू हुई दोहरी मार, तैयारी नाकाफी

लॉकडाउन : घर लौट रहे बिहारियों से नीतीश का सख्त बर्ताव देख, पीके ने मांगा इस्तीफा

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने देशभर की जेलों में कैदियों की संख्या को कम करने के लिए राज्यों से उन कैदियों को पैरोल या अंतरिम जमानत पर रिहा करने के लिए विचार करने को कहा है जो अधिकतम 7 साल की सजा काट रहे हैं। लालू प्रसाद चारा घोटाले के कई मामले में होटवार जेल में सजा काट रहे हैं। फिलहाल स्वास्थ्य कारणों से वे रिम्स के पेईंग वॉर्ड में भर्ती हैं।

-आईएएनएस

Advertisement
Back to Top