राष्ट्र के नाम संबोधन में चीन का जिक्र नहीं होने पर राहुल गांधी ने पीएम पर साधा निशाना, कहा-'तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि क़ाफ़िला क्यूं लुटा'

Rahul Gandh criticize PM modi for not discussing china in his Exhortation - Sakshi Samachar

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम पर साधा निशाना

राष्ट्र के नाम संबोधन में चीन का पीएम ने नहीं किया जिक्र

नई दिल्ली :  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन में चीन के साथ गतिरोध का उल्लेख नहीं होने की ओर इशारा करते हुए मंगलवार को प्रधानमंत्री पर शायरी के माध्यम से निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि क़ाफ़िला क्यूं लुटा, मुझे रहज़नों से गिला नहीं, तेरी रहबरी का सवाल है।'' 

मोदी के संबोधन से पहले कांग्रेस नेता ने कहा था कि प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि वह ‘भारतीय क्षेत्र में बैठे' चीन के सैनिकों के कब और कैसे बाहर निकालेंगे। साथ ही, उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से यह आग्रह भी किया था कि कोरोना संकट के कारण परेशानी का सामना कर रहे गरीबों, मध्यम वर्ग और वेतनभोगी वर्ग को राहत देने के लिए ‘न्यूनतम आय गारंटी योजना' (न्याय) की तर्ज पर छह महीने के लिए कोई योजना आरंभ करें।

राहुल गांधी ने एक वीडियो संदेश में कहा था, ‘‘ पूरा देश जानता है कि चीन ने भारत की पवित्र जमीन छीनी हुई है। हम सभी जानते हैं कि चीन लद्दाख में चार जगह बैठा हुआ है। नरेंद्र मोदी जी देश को बताइए कि आप चीन की फौज को कब और कैसे बाहर निकालेंगे?'' गौरतलब है कि इन दिनों लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच गतिरोध चल रहा है। गत 15-16 जून की रात दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। चीनी पक्ष को भी नुकसान होने की रिपोर्टे हैं। 

इसे भी पढ़ें : 

पीएम मोदी ने दिया दीवाली गिफ्ट, 80 करोड़ गरीबों को नवंबर तक मुफ्त राशन​

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में मंगलवार को ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना' का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है। इससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा। उन्होंने कहा कि सारी एहतियात बरतते हुए आर्थिक गतिविधियों को आगे बढ़ाया जाएगा तथा हिन्दुस्तान को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया जाएगा। 
 

Advertisement
Back to Top