हेमंत सोरेन बोले- झारखंड में अभी नहीं खुलेंगे धार्मिक स्थल, केंद्र पर लगाया ये आरोप

Hemant Soren Says Religious Places Will Not Open In Jharkhand - Sakshi Samachar

केन्द्र ने अब देश की जनता को भगवान भरोसे छोड़ा

धार्मिक स्थल अभी नहीं खोले जाएंगे

रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार के मद्देनजर राज्य में अभी धार्मिक स्थल नहीं खोले जाएंगे और इस बारे में बाद में निर्णय लिया जाएगा। सोरेन ‘अनलॉक-1' के दौरान झारखंड में लॉकडाउन से दी जाने वाली छूट के बारे में यहां उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राज्य में फिलहाल बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए सरकार धीरे- धीरे छूट दे रही है। धार्मिक स्थल अभी नहीं खोले जाएंगे और इस बारे में बाद में निर्णय किया जाएगा। 

साथ ही हेमंत सोरेन ने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार ने चार लॉकडाउन के बाद अब देश की जनता और राज्य सरकारों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है जिसका परिणाम आने वाले समय में ही पता चलेगा। 

हेमंत सोरेन ने दो टूक आरोप लगाया, ‘‘केन्द्र ने चार लॉकडाउन के बाद अब देश की जनता और राज्य सरकारों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है। अब आने वाले समय में ही पता चलेगा कि देश की क्या स्थिति होगी?'' उन्होंने कहा, ‘‘समय समय पर केन्द्र सरकार तमाम दिशानिर्देश जारी कर रही है। हम केन्द्र सरकार के दिशानिर्देशों पर लगातार नजर रखे हुए हैं।'' 

सोरेन ने कहा कि आज झारखंड सरकार ने भी तमाम नयी छूट लोगों को अपने व्यवसाय तथा धंधे के लिए दिये हैं लेकिन लॉकडाउन के नियमों के पालन की स्थिति को देखते हुए इन पर पुनर्विचार किया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में लगातार कभी 60, कभी 70 कभी 50 नये कोरोना वायरस संक्रमित मिल रहे हैं। अगर कहीं वह बाहर निकल कर घूमने लगे तो क्या होगा?'' 

इसे भी पढ़ें : 

झारखंड में फल बेचने वालों ने लगाए 'हिंदू फल की दुकान' की पोस्टर, पुलिस ने लिया एक्शन, अब हो रही राजनीति

"अब दूसरे राज्यों में काम करने नहीं जाऊंगा", झारखंड लौटे लोगों का छलका दर्द

उन्होंने स्पष्ट किया कि आज राज्य में जो भी नयी छूट दी गयी है वह समाज के अनेक वर्गों की परेशानियों और तनाव को देखते हुए भी दी गयी है। लेकिन यदि संक्रमण इसी प्रकार बढ़ता रहा तो इन छूटों पर पुनर्विचार भी किया जा सकता है।

Advertisement
Back to Top