नीतीश की पहली पसंद बन सकते हैं जीतन राम मांझी, LJP को दरकिनार करने की है नीतीश की तैयारी..!

Electoral equations started changing in Bihar, Paswan is preparing for election alone - Sakshi Samachar

बिहार चुनाव से पहले एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान का बड़ा बयान

पार्टी को किसी भी परिस्थिति के लिए रहना चाहिए तैयार

नए बिहार के शिल्पकार की भूमिका में रहेगी लोक जनशक्ति पार्टी

पटना : जैसे-जैसे बिहार में विधानसभा चुनावों का समय पास आता दिख रहा है, वैसे-वैसे माना जा रहा है कि लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने बिहार में अपने स्तर से अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू कर दी है। इस बात की संभावना इशारे-इशारे में चिराग पासवान ने जता दी है और अपने कार्यकर्ताओं को भी इशारे में ही समझा भी दिया है।

लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जमुई से सांसद चिराग पासवान का कहना है कि उन्होंने अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं से साफ-साफ कह दिया है कि बिहार में गठबंधन का स्वरूप बदल रहा है और पार्टी कार्यकर्ताओं को हर परिस्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए। अभी हाल ही में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि बिहार चुनाव को लेकर पार्टी की हर एक कार्यकर्ता को अपनी पूरी तैयारी करनी चाहिए ताकि जरूरत पड़ने पर लोक जनशक्ति पार्टी अकेले चुनाव लड़ सके।

सीटों पर फंसी है पेंच

बताया जा रहा है कि सीटों के बंटवारे में मची खींचतान के कारण इस तरह की संभावना जताई जा रही है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी को अगर वायदे के मुताबिक सीटें नहीं मिली तो वह अकेले भी चुनाव लड़ने की संभावनाओं पर जोर देने लगे हैं। बिहार विधानसभा में लोक जनशक्ति पार्टी कम से कम 42 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है जबकि उनके सहयोगी दल लोक जनशक्ति पार्टी को केवल 30 से 35 सीटें देने के मूड में दिखाई दे रहे हैं।

माना जा रहा है कि चिराग पासवान इन दिनों नीतीश कुमार से भी कुछ खफा-खफा से चल रहे हैं। दरअसल, मौजूदा विधानसभा में लोक जनशक्ति पार्टी के दो विधायक हैं। इसके बावजूद सरकार में उनकी कोई भागीदारी नहीं है जबकि एनडीए के घटक दल के रूप में लोक जनशक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान और चिराग पासवान अक्सर सरकारी कार्यक्रमों में भाजपा और जनता दल यूनाइटेड के नेताओं के साथ मंच पर और कार्यक्रमों में देखे जाते हैं।

यह है विधानसभा में ताजा स्थिति...

यह भी पढें : बिहार विधान परिषद चुनाव के लिए भाजपा ने घोषित किए उम्मीदवारों के नाम, जानिए किसे मिला टिकट

रघुवंश प्रसाद के फैसले से तेजस्वी पर उठे सवाल, क्या टूट जाएगी लालू की पार्टी, जानिए वजह

चिराग का विकल्प बन सकते मांझी

खुद नीतीश कुमार की भी चिराग पासवान कई बार अप्रत्यक्ष रूप से आलोचना कर चुके हैं और प्रवासी मजदूरों को राज्य में वापस लौटाने जैसे मामलों पर कई बार उन्हें पत्र लिखकर मुश्किल में भी डाला है। ऐसे भी संभावना तलाशी जा रही है कि नीतीश कुमार हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को अपने खेमे में शामिल करके चिराग पासवान की पार्टी को निपटा देना चाहते हैं। इस बात की संभावना से चिराग पासवान पहले से ही सतर्क रहकर अपनी तैयारी कर रहे हैं, ताकि ऐसी स्थिति में वह बिहार की राजनीति में अपनी एक प्रभावशाली छवि तैयार कर सकें।

....सुषमा कुमारी, सीनियर सब एडिटर, साक्षी समाचार

Advertisement
Back to Top