दिग्गी राजा पर भड़क उठे कांग्रेस के युवा नेता, कर रहे ये मांग

Congress Youth Leaders Upset on Digvijay Singh tweet over Rahul Gandhi - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : कांग्रेस पार्टी के नेता सोशल मीडिया पर राहुल गांधी से एक बार फिर कांग्रेस का कमान संभालने की अपील कर रहे हैं और उन्होंने राहुल गांधी के परिवार की कुर्बानी का हवाला देते हुए मीडिया को बताया कि वे फिर से राहुल को पार्टी अध्यक्ष के रूप में देखना चाहते हैं।

राहुल की वापसी की पार्टी नेताओं की मांग के बीच पार्टी  के वरिष्ट नेता दिग्विजय सिंह द्वारा दिए गए सुझाव से बवाल मच गया है।  दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट कर कहा, 'अलग राजनीति करने की राहुल गांधी की भावना को मैं समझ सकता हूं। शरद पवार के सुझाव के मुताबिक राहुल गांधी को पूरे देश का चक्कर लगाना चाहिए और लोगों के करीब पहुंचने के लिए यात्राएं महत्वपूर्ण होती हैं।

दिग्विजय सिंह के इस सुझाव पर पार्टी के युवा नेता भन्ना उठे हैं। तमिलनाडु से जुड़े कांग्रेस पार्टी के नेता लोकसभा में पार्टी के ह्विप माणिक्यम टैगोर ने बताया कि राहुल गांधी पहले ही देशभर में सैकड़ों पर पदयात्रा कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में उच्चपदस्त नेताओं को राहुल गांधी के साथ खड़े होना चाहिए और पीछे से आलोचना नहीं करनी चाहिए।

राहुल गांधी से एक बार फिर पार्टी की बागडोर संभालने की मांग कर रहे सभी युवा नेता पार्टी पतन के लिए काांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उनका यह भी आरोप है कि मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के कारण ही ज्योतिरादित्या सिंधिया ने पार्टी छोड़ी है। उनका यह भी कहना है कि वरिष्ठ नेताओं की लापरवाही की वजह से ही ज्योतिरादित्या सिंधिया की बगावत से मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार गिरी। अब राजस्थान में सचिन पायलट की बगावत भी पार्टी में युवा नेताओं की अनदेखी की पराकाष्टा है।

इस बीच, गत गुरुवार को पार्टी की आतंरिक बैठक में भी कांग्रेस के वरिष्ठ और युवा नेताओं के बीच मतभेद साफ दिखाई दिए। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि कोरोना महामारी, आर्थिक मंदी, चीन के साथ सीमा विवाद जैसे मुद्दों को भुनाने में विपक्ष के रूप में पार्टी विफल हुई है और इसपर पार्टी को आत्ममंथन कर लेना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : 

राज्यसभा में क्या हुआ जब आमने-सामने आ गए सिंधिया और दिग्विजय
इन मुद्दों पर राहुल गांधी सोशल मीडिया के प्लाटफार्म ट्वीटर और वीडियो के जरिए भाजपा के खिलाफ समर्थ रूप से आवाज उठाने के वरिष्ठ नेताओं की बात को भी युवा नेताओं ने खारिज कर दिया। बैठक में पार्टी के राज्यसभा सदस्य राजीव सतव ने पूछा कि संप्रग सरकार में केंद्रीय मंत्रियों ने पार्टी कार्यकर्ताओं की अनदेखी क्यों की ? यही नहीं, महाराष्ट्र औौर दिल्ली में पार्टी का पतन क्यों हुआ इस पर चिंतन करने  की जरूरत है।

Related Tweets
Advertisement
Back to Top