जोखिमभरा होगा महामारी के बीच बिहार विधानसभा चुनाव कराना : चिराग पासवान

Chirag Paswan Says Bihar Assembly Election in Amid Corona Pendemic is Risky one - Sakshi Samachar

नयी दिल्ली : भाजपा की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी कोरोना वायरस महामारी को लेकर आगामी बिहार विधानसभा चुनाव टालने के पक्ष में शुक्रवार को नजर आई। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि यदि कोविड-19 के फैलने के दौरान चुनाव कराये जाते हैं, तो बहुत कम मतदान प्रतिशत रह सकता है। साथ ही कहा कि चुनाव लोगों की जान खतरे में डाल सकते हैं। एक तरह से चिराग पासवान ने पिछले दिनों राजद नेता तेजस्वी यादव के उस बयान के समर्थन में जिसमें उन्होंने कहा था कि यह समय चुनाव के लिए उपयुक्त नहीं है।

राज्य में अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव आयोग ने इसके कार्यक्रम के बारे में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है। पासवान ने कहा, ‘‘न सिर्फ बिहार, बल्कि पूरा देश कोरोना वायरस से प्रभावित है। इसने केंद्र और बिहार के वित्त को प्रभावित किया है। इन सबके बीच चुनाव कराने से राज्य पर और अधिक वित्तीय बोझ बढ़ेगा।'' उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के संसदीय बोर्ड ने इस मुद्दे पर चिंता प्रकट की है। 94 विधानसभा सीटों पर बूथ लिस्ट सत्यापित करने का काम पूरा हो जाएगा और बाकी की 149 सीटों पर भी जल्द ही इसे कर लिया जाएगा।

पासवान ने ट्वीट किया, ‘‘चुनाव आयोग को व्यापक चर्चा के बाद निर्णय लेना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि भारी आबादी खतरे में पड़ जाए। इस महामारी के बीच यदि चुनाव हुए तो मतदान प्रतिशत भी बहुत कम रहेगा, जो लोकतंत्र के लिये अच्छा नहीं है। '' हालांकि, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी चुनाव के लिये तैयार है।

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा था कि यह चुनाव के लिए सही वक्त नहीं है, क्योंकि राज्य में कोरोना महामारी तेजी से  फैल रहा है। उन्होंने राज्य की नीतीश सरकार पर कोविड से जुड़े आंकड़े छिपाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि सरकार को कोविड-19 की चिंता नहीं है। इसीलिए तो वह कैबिनेट, प्रशासन सहित बाकी सभी चुनाव की तैयारी में जुटे हुए हैं।
 

इसे भी पढ़ेें : 

NDA के अटूट होने के बयान पर भड़के चिराग पासवान, नेता को निकाला बाहर

Advertisement
Back to Top