जानिए अपने चहेतों को राज्यसभा भेजने के लिए कैसी कैसी चाल चल रहे हैं BJP व कांग्रेस के नेता..!

BJP and Congress politics before Rajya sabha election in Gujarat - Sakshi Samachar

गुजरात में राज्यसभा चुनाव

भाजपा-कांग्रेस का आरोप-प्रत्यारोप 

अहमदाबाद :  गुजरात कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि राज्य पुलिस सत्तारूढ़ भाजपा के इशारे पर पार्टी के वरिष्ठ विधायक पुंजा वंश पर फर्जी मामला दर्ज करने का प्रयास कर रही है, ताकि वह 19 जून को प्रदेश की चार राज्यसभा सीटों के लिए होने वाले चुनाव में शामिल नहीं हो सके। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा ने कहा कि पार्टी का प्रतिनिधिमंडल गुजरात के मुख्य चुनाव अधिकारी एस मुरली कृष्ण से मिलेगा और विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त और धमकाने की जानकारी देगा। उन्होंने दावा किया कि गिर सोमनाथ जिले के उना पुलिस थाने में मई में दर्ज प्राथमिकी में वंश का नाम नहीं था लेकिन स्थानीय पुलिस ने दबाव में छह बार के विधायक और विधानसभा में लोकलेखा समिति के मौजूदा अध्यक्ष वंश का नाम शामिल किया। 

चावड़ा ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ पिछले महीने उना में प्रतिद्वंद्वी गुटों के बीच झड़प के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। वंश की मामले में कोई भूमिका नहीं होने के बावजूद उन्हें दो बार बयान दर्ज कराने के लिए समन किया गया। वंश ने दोनों समन का सम्मान किया, लेकिन पुलिस ने एक बार फिर उन्हें 11 जून को बुलाया।'' उन्होंने कहा, ‘‘ जब वंश ने पुलिस से राज्यसभा चुनाव संपन्न होने तक का समय देने का अनुरोध किया तो पुलिस ने उनकी एक न सुनी और दिए गए समय पर ही उपस्थित होने के लिए दबाव बनाया।'' 

गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति अध्यक्ष चावड़ा ने कहा, ‘‘हमें डर है कि पुलिस की योजना हमारे विधायक को गिरफ्तार करने की है ताकि उन्हें मतदान में शामिल होने से रोका जा सके। भाजपा और उसकी सरकार चुनाव जीतने के लिए सभी तरीके अपना रही है।'' उल्लेखनीय है कि विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए वंश और अन्य कांग्रेस विधायकों को राज्य के अलग-अलग रिजॉर्ट में भेज दिया गया है। 

अभी तक कांग्रेस के आठ विधायक इस्तीफा दे चुके हैं जिसकी वजह से सदन में पार्टी के विधायकों की संख्या 65 हो गई है, जो राज्य सभा की दो सीटों को जीतने के लिए प्रर्याप्त नहीं है। कांग्रेस ने दो उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। गुजरात से राज्यसभा की चार सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान होना था, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के चलते इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था। अब इन सीटों पर 19 जून को मतदान होना है।

इसे भी पढ़ें : 

गहलोत व पायलट का दावा : राजस्थान में नहीं कामयाब होगी BJP की कोई 'चाल'​

राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में एक और कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा

 मार्च महीने में जब इन चार सीटों के लिए मतदान की घोषणा की गई थी तब कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था। चुनाव की नयी तारीख आने पर कांग्रेस के तीन और विधायकों ने भी विधानसभा से त्यागपत्र दे दिया। कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेताओं शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को मैदान में उतारा है जबकि सत्तारूढ़ भाजपा ने अभय भारद्वाज, रमीलाबेन बारा और नरहरि अमीन को प्रत्याशी बनाया है। 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा में भाजपा के 103, कांग्रेस के 65, भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का एक विधायक है। वहीं जिगनेश मेवानी बतौर निर्दलीय सदन के सदस्य हैं। इस समय विधानसभा की 10 सीटें खाली हैं।

Advertisement
Back to Top