'जोमैटो' की 'आत्मनिर्भर' गर्ल, नौकरी छोड़ शुरू किया 'फूड डिलीवरी' का काम

zomato food delivery girl asma shaikh in pune - Sakshi Samachar

आसमा ने कॉल सेंटर में की नौकरी

फूड डिलीवरी के क्षेत्र में बनी पार्टनर

पुणे : 'जोमैटो' की 'आत्मनिर्भर' डिलीवरी गर्ल आसमा शेख़ नौकरी छोड़ 'फूड डिलीवरी' का काम कर रही है। पिछले साल भारी बारिश हुई थी। बारिश में आई बाढ़ के चलते आसमा के परिवार का व्यापार प्रभावित हुआ। परिवार को बड़े पैमाने पर नुकसान का सामना करना पड़ा। परिवार के सामने जीवनव्यापन को लेकर सवालिया निशान बना रहा।

प्राकृतिक आपदा से उबरने के बाद परिवार ने जीवनयापन के लिए पुणे आने का फैसला किया। परिवार के सभी लोग पुणे आ गये। यहां पर आने के बाद परिवार की सदस्य आसमा ने कॉल सेंटर में काम करना शुरू किया। इससे आर्थिक समस्या का समाधान होने लगा। इस बीच आसमा ने सोचा कि परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार लाना होगा तो अतिरिक्त काम भी करना जरूरी है।

आसमा ने कहा कि उसके पति हमेशा यह कहते रहे कि नौकरी नहीं मिलने और व्यापार नहीं होने पर वह घऱ पर रहें। लेकिन आसमा ने परिवार के एक सदस्य की जिम्मेदारी को समझते हुए फूड डिलीवरी का काम शुरू किया। परिवार के सदस्यों ने उसको सहयोग दिया। आसमा यह सोचकर फूड डिलीवरी के क्षेत्र में पार्टनर बनी। उसने हर चुनौती का सामना करने का मन बनाया। उसने कॉल सेंटर की नौकरी छोड़ दी।

आसमा शेख ने फूड डिलीवरी के लिए दो शिफ्टों में काम करना शुरू किया। वह अपने पति के साथ काम करने लगी। पति-पत्नी सुबह नौ से लेकर दोपहर दो बजे तक और शाम छह बजे से लेकर रात दस बजे तक काम करने लगे। आसमा ने अपने आत्मविश्वास के बलबूते पर काम को और बेहतर बनाया। वह काम के प्रति गंभीर हुई। उसने कोरोना जैसी महामारी के दौरान भी साहस भरा कदम उठाया। उसने अपने पति के साथ फुड डिलवरी का काम जारी रखा। वे दोनों जल्द काम पर जाते और रात देर से घऱ लौटते। घर आते ही दोनों इस बात पर चर्चा करते कि दिन में कितने ऑर्डर मिले और कितनी आय हुई है।

फूड डिलीवरी गर्ल ने कोरोना संक्रमण के दौरान भी वायरस की रोकथाम को लेकर केंद्र द्वारा जारी नियमावली का पालन किया। उसने बारिश में भी भीगते हुए 'फूड डिलीवरी' का काम किया। इससे परिवार की आर्थिक स्थिति में खासा सुधार हुआ।

आसमा शेख ने कहा कि महिलाओं के लिए फूड डिलीवरी का काम चुनौतीभरा होता है। इसमें साहस से चुनौती का सामना करने का जज्बा होना जरुरी होता है। महिलाओं में हर चुनौती से लड़ने का जुनून होना चाहिए।

Related Tweets
Advertisement
Back to Top