आपका मूड फ्रेश करने में मदद करेंगे यह 6 तरीके, बना देंगे आपका दिन

These Measures Use full in Improve and Refresh Your Mood  - Sakshi Samachar

अपने किसी वेलविशर से बात करें 

मूड ठीक करने  में अच्छा विकल्प है आर्ट

अपना फेवरेट म्यूजिक सुने और बिन्दास डांस करें 

शारीरिक फिटनेस पर ध्यान 

जीवन में सुख-दुख आम बात है, लेकिन तनावमुक्त जीवन के लिए सकारात्मक सोच का होना जरूरी है। जीवन में दुखी होना आम बात है मगर अकसर हमारा मन का दुख से बाहर नहीं निकल पाना ठीक नहीं है। दुखी होना और मुड खराब होने की बात सही है, लेकिन खराब मूड की वजह से दिनभर दुखी रहना उचित नहीं है। इसीलिए हम आपको कुछ ऐसे तरीके सुझाएंगे जो आपके मूड को पलभर में सही कर देंगे।

1. अपने किसी वेलविशर से बात करें 
अपने पार्टनर, भाई-बहन, दोस्त किसी से भी कुछ देर बात करें। यह बिल्कुल ज़रूरी नहीं है कि आप अपनी भावनाओं या मूड को डिस्कस करें। आप कुछ भी बात कर सकती हैं और 10-15 मिनट में ही आपको अपने मूड में फ़र्क नज़र आएगा।

2. मूड ठीक करने  में अच्छा विकल्प है आर्ट
आर्ट हमारे जीवन में एक थेरेपी की तरह काम करता है। अगर आप ड्राइंग करते हैं, स्कैचिंग या फिर पेंटिंग, सभी आपके  मूड को सुधारने में  मददगार साबित होंगे। शोध से पता चला है कि आर्ट करने  के दौरान मनुष्य के शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल को कम करता है और एंड्रोफीन्स को बढ़ाता है। यदि आपका आर्ट उतना बेहतर नहीं है तो आप कलरिंग बुक्स का  भी सहारा ले सकते हैं और ये भी उतना ही फायदेमंद है।

3. अपना फेवरेट म्यूजिक सुने और बिन्दास डांस करें 
हाल के एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि पसंदीदा म्यूजिक और गाना सुनने से  हमारे शरीर में फील गुड़ हार्मेन डोपामीन निकलता है, जो हमें हमेशा खुश रखने में सहायक बनता है। यही नहीं, आपके पसंद का संगीत और गाना आपके खराब मूड को ठीक कर सकता है। इसके अलावा डांस करते वक्त हमारे शरीर में एंड्रोफिन्स नामक हार्मोन्स जनरेट होता है जो तनाव को दूर कर हमारा मूड ठीक करता है। इसलिए आप डांस अच्छा हो या बुरा उसे  जरूर करिए। इसमें अगर आपके साथ कोई नहीं भी है तो आप अकेले करें, क्योंकि डांस करते वक्त आपको मानसिक शांति और रिलैक्सेशन मिलता है।

4. शारीरिक फिटनेस पर ध्यान दें 
शरीर को चुस्त और तंदुरुस्त बनाए रखने के  लिए एक्सरसाइज बेहद जरूरी है और यह हमारे मूड को भी ठीक करने में उपयोगी है। मेंटल हेल्थ के लिए एक्सरसाइज बहुत ही जरूरी है, क्योंकि एक्सरसाइज के  दौरान हमारे शरीर में डोपामीन और एंडोकैनाबानोइड जैसे हॉर्मोन्स निकलते हैं, जिनसे हम सुख महसूस करते हैं। गहरी सांसें लेने से  दिमाग शांत होता है और शरीर मे ऑक्सीजन का फ़्लो भी बढ़ता है, जिससे आपको एंग्जायटी और स्ट्रेस से राहत मिलती है।

5. किचन में वक्त बिताए
अगर आप कुकिंग में इंट्रेस्ट रखते हैं तो इससे भी आप तनावमुक्त हो सकते हैं। कुकिंग के दौरान हमारा दिमाग पूरी तरह बिजी हो जाता है और अंत में स्वादिष्ठ खाना भी मिल जाता है। इसलिए कुकिंग आपके मूड को ठीकर करने के साथ-साथ पेट के  लिए भी बढ़िया आइडिया है।

5.अपनी भावनाओं को शब्दों  में पिरोए
आप जो कुछ महसूस कर रहे हैं उसे कागज पर उतारने  का प्रयास करिए। पर्सनालिटी एंड सोशल साइकोलॉजी बुलेटिन के मुताबिक लिखने से तनाव कम होता है और हम अपनी भावनाओं को बेहतर तरीके से समझा सकते हैं। ऐसे भी  हमें अपनी भावनाओं को लिखने में खुशी मिलती है।

6. डायरी लिखें और पसंदीदा किताब पढ़ें 
डायरी लिखना एक अच्छी आदत है। अपनी भावनाओं को लिखने से आपको उनके ऊपर कंट्रोल महसूस होता है, जिससे आपका मूड खराब नहीं होता। दुखी होने पर भी आपको लगता है कि आपके दुख आपके कंट्रोल में हैं, जिससे स्ट्रेस कम होता है और मूड ठीक होता है।

क्या आप जानते हैं किताब पढ़ना भी मेडिटेशन के समान होता है! किताब पढ़ते वक्त आपका दिमाग उस किताब की दुनिया में होता है, जिससे आपका स्ट्रेस कम होता है। आपको पूरी किताब पढ़ने की ज़रूरत नहीं, अपनी पसंद के कुछ पन्ने पढ़कर ही आपका मूड अच्छा हो जाएगा

Related Tweets
Advertisement
Back to Top