डिप्रेशन से जूझकर 12वीं में वाणिज्य विषय से तीसरा अंक हासिल करने में सफल रही मध्य प्रदेश की आंचल जैन

MP 12th student Anchal Jain got 3rd rank in Commerce, defeated Depression - Sakshi Samachar

10वीं में बेस्ट फाइव में नहीं आई तो डिप्रेशन में चली गई

पढ़ाई को कभी बोझ की तरह नहीं लिया

आज का काम आज ही पूरा करने की आदत डाली

नई दिल्ली : एक ओर जहां डिप्रेशन के कारण बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर आज पूरा देश शॉक्ड है। वहीं, एक ऐसा उदाहरण सामने आया है, जिसमें डिप्रेशन की समस्या से जूझकर बाहर आई मध्यप्रदेश की एक छात्रा ने 12वीं में वाणिज्य विषय में टॉप किया और साबित कर दिया कि जीवन में कभी हार नहीं माननी चहिए। बल्कि हमें हमेशा बेहतर की कोशिश में लगे रहना चाहिए। यकीनन एक न एक दिन हमें मंजिल अवश्य मिलेगी।

जी हां, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की आंचल जैन ने एमपी बोर्ड की 12वीं में वाणिज्य में टॉप किया है। वह बताती है कि 10वीं में जब खूब मेहनत करने के बावजूद वह बेस्ट फाइव के कारण मैरिट में नहीं आ पाई तो डिप्रेशन में चली गई थी, लेकिन उसने हार नहीं मानी।

10वीं में बेस्ट फाइव में नहीं आई तो डिप्रेशन में चली गई

आंचल कहती है कि यहां तक पहुंचने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की है। 10वीं कक्षा में सबसे ज्यादा अंक आने के बाद भी मैं मैरिट में नहीं आ सकी थी, क्योंकि लिस्ट बेस्ट फाइव पर तय हुई थी। इससे मैं डिप्रेशन में आ गई थी। इसके बाद तो मानो मेरी दुनिया ही बदल गई। लोगों से दूर रहना और अपने में ही गुम रहना शुरू कर दिया था मैंने। मैं छोटी-छोटी बातों पर चिढ़ जाती। मुझे गुस्सा भी बहुत जल्दी आना शुरू हो गया था।

पढ़ाई को कभी बोझ की तरह नहीं लिया

करीब एक साल तक डिप्रेशन में रहने के बाद मैंने इससे बाहर आने की ठानी। फिर, डांस और कुकिंग शुरू कर दी। मैंने इसी में अपना ध्यान लगाया। आज भी जब थोड़ी चिंता होती है तो मैं डांस और कुकिंग ही करती हूं। इससे मुझे खुद पर कंट्रोल करने में आसानी होती है। मैंने अपनी पढ़ाई को कभी बोझ की तरह नहीं लिया। बिल्कुल सहज भाव से छोटे-छोटे लक्ष्य बनाए और फिर तय लक्ष्य को पाने की कोशिश की। इससे मैं आसानी से हर लक्ष्य पूरा कर पाई।

आज का काम आज ही पूरा करने की आदत डाली

आंचल कहती है, मैंने आज का काम आज ही पूरा करने की आदत डाली। उसे कल पर कभी नहीं टाला। मोबाइल फोन और सामाजिक दुनिया से भी खुद को दूर रखा। पढ़ाई, डांस और कुकिंग के अलावा उसे क्या पसंद है, पूछने पर वह बताती है कि उसे परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताना अच्छा लगता है। उसने यह भी बताया कि किस तरह से रात-रात भर जगकर मां ने उसका ख्याल रखा। यही नहीं, छोटी बहन ने भी हमेशा उसका साथ दिया, जो इसी साल 10वीं में टॉप-10 में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही है।

ये हैं इस बार एमपी बोर्ड के टॉपर्स

बता दें कि एमपी बोर्ड की 12वीं कक्षा की आंचल जैन ने वाणिज्य वर्ग में प्रदेश में थर्ड रैंक हासिल की। उसने 500 में से 479 अंक हासिल किए। उसके अलावा प्रशांत गावंडे ने 500 में से 471 अंकों के साथ नौवां स्थान बनाया। इसके अलावा कला वर्ग में भोपाल के कृष्ण कुमार पटेल (466 अंक, नौवां स्थान), विज्ञान वर्ग में सुमित शुक्ला (482 अंक, 9वां स्थान), वाणिज्य  में जेनब अली (474 अंक, छठा स्थान), अनुज नायक (470 अंक, दसवां स्थान), विज्ञान-जीव में रजनीश सिंगरौले (483 अंक, 5वां स्थान), शैल्य सिंह (477 अंक, 8वां स्थान) और इल्मा खान (476 अंक, 9वां स्थान) ने अपने- अपने वर्ग में स्टेट टाॅपर्स में जगह बनाई।

Advertisement
Back to Top