कोरोना वायरस : बुजुर्गों का इस संक्रमण से ऐसे करें बचाव, अपनाएं ये खास टिप्स

know How to save elderly from Corona this tips will helpful - Sakshi Samachar

कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है

कोरोना वायरस से बुजुर्गों का बचाव ऐसे करें 

हम सब जानते ही हैं कि कैसे कोरोना वायरस से पूरी दुनिया परेशान है और कैसे इस संक्रमण के चलते हर दिन कई मौतें हो रही है। अब तो भारत में भी इसका मौत का तांडव चल रहा है। इसी पर लगाम कसने के लिए तो 21 दिनों का लॉकडाउन पूरे देश में लगाया गया है। देश और दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 7.24 लाख से ज्यादा हो गई है, जबकि इससे हुई मौतों का आंकड़ा 34 हजार पार कर चुका है। भारत में भी हर दिन कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं।

वहीं कोरोना के बारे में शुरू से स्वास्थ्य विशेषज्ञ कह रहे हैं कि यह कमजोर इम्यून सिस्टम वालों पर ही सबसे पहले वार करता है इसलिए अपने इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि बुजुर्गों पर इस संक्रमण का असर जल्दी होता है क्योंकि उम्र के साथ ही उनका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। वहीं बुजुर्गों को सर्वाधिक खतरा होने को लेकर कोरोना से बचाव के लिए केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने परामर्श जारी किया है। 

सोमवार को मंत्रालय द्वारा जारी किए गए इस स्वास्थ्य परामर्श में बताया गया है कि इस वायरस के संक्रमण से बचने के लिये बुजुर्गों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। 

तो आइये यहां जानते हैं कि बुजुर्गों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं ...

- बुजुर्गों को संक्रमण से बचाव के सभी संभव उपाय अपनाते हुये घर पर ही नियमित रूप से व्यायाम करने की सलाह दी गई है। 

- साथ ही घर पर रहते हुये भी संक्रमण का खतरा कम करने के लिए उन्हें नियमित अंतराल पर साबुन से हाथ और चेहरा धोते रहना चाहिए। 

- घर से बाहर नहीं निकलने के परामर्श का सख्ती से पालन करते हुये बुजुर्गों को बाहर से आने वाले लागों से नहीं मिलने को कहा गया है। 

- अगर आगंतुकों से मिलना बहुत जरूरी हो तो कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर मिलना सुरक्षित होगा।
 
- बुजुर्गों को घर में बना ताजा पोषण युक्त आहार लेना चाहिए।
- उन्हें गर्म खाना खाने, बार बार पानी पीने और नियमित तौर पर ताजे फलों का रस पीने की सलाह दी गई है।
- उम्रदराज लोगों से पहले से चल रही दवाओं का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए।
- मोतियाबिंद, घुटना प्रत्यारोपण जैसी शल्य चिकित्सा को फिलहाल टालने का परामर्श दिया गया है।
- बुजुर्गों को सर्दी-जुकाम, खांसी या बुखार से पीड़ित लोगों के पास नहीं जाना चाहिए। 
- बुजुर्गों को बुखार, जुकाम या सांस लेने में तकलीफ की समस्या होने पर तत्काल नजदीकी चिकित्सा सेवा से संपर्क करना चाहिए।
- दरअसल, कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक सामने आए मौत के मामलों में उम्रदराज लोगों की काफी अधिक संख्या को देखते हुए बुजुर्गों के लिए ये परामर्श जारी किए गए हैं। संक्रमण का दायरा बढ़ने के मद्देनजर मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि बुजुर्गों में उम्र की अधिकता के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तुलनात्मक रूप से कम होने की वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में बुजुर्गों का खास ध्यान रखने की जरूरत है। 

इसे भी पढ़ें : 

जानें आखिर कोरोना वायरस और स्वाइन फ्लू में क्या है अंतर, कौन सा इंफेक्शन है ज्यादा खतरनाक

कोरोना वायरस : आपको सूखी खांसी आ रही है या गीली, ऐसे समझें ये कोरोना है या कुछ और​

Advertisement
Back to Top