कोरोना ने उड़ा रखी थी महिला के रातों की नींद, कहा- मेरे खून हो सकते है जवाब

Woman Recovering From Coronavirus Said My Blood Can Have Answers - Sakshi Samachar

 उस मंजर को याद करके अब भी सहम उठती हैं  टिफिनी पिनकेनी

कोरोना से उभर चुकी टिफिनी पिनकेनी ने किया ब्लड डोनेट का फैसला

न्यूयार्क : अमेरिका में कोरोना वायरस से ठीक हो चुकी एक महिला टिफिनी पिनकेनी उस मंजर को याद करके अब भी सहम जाती है जब इस महामारी ने उसकी रातों की नींद उड़ा दी थी। लेकिन न्यूयार्क शहर की इस महिला ने इस बीमारी से जंग जीतकर अब गंभीर रूप से बीमार अन्य मरीजों के इलाज के लिए अपना रक्त दान करने का फैसला लिया है। पिनकेनी ने समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस को बताया, ‘‘यह जानना निश्चित रूप से जरूरी है कि मेरे रक्त में, जवाब हो सकते हैं।'' न्यूयॉर्क के माउंट सिनाई अस्पताल के अध्यक्ष डा.डेविड रीच ने कहा, ‘‘यह एक अभियान का जबरदस्त आह्वान है।'' 

उन्होंने कहा कि पिनकेनी भी उस दौड़ में शामिल हुई जो रक्त देना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लोग इस बीमारी के सामने खुद को बहुत असहाय महसूस कर रहे हैं। यही वह समय है जब लोग अपने साथी मनुष्यों की मदद कर सकते हैं।'' इस महामारी से सहमी जनता अपने परिवारों के साथ अपने बीमार प्रियजनों की ओर से सोशल मीडिया पर मदद का आग्रह कर रही है और इस बीमार से स्वस्थ हुए लोग पूछ रहे हैं कि वे किस तरह से उनकी मदद कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़े

अमेरिका में कोरोना का कहर जारी, एक ही दिन में चली गई 884 लोगों की जान, अस्पतालों के मुर्दाघर भरे

अमेरिका में लाशों को नहीं मिल रही दो गज जमीन, फ्रीजर वाले ट्रकों में भरी जा रही लाशें

मिशिगन स्टेट विश्वविद्यालय के अनुसार, 1,000 से अधिक लोगों ने अकेले राष्ट्रीय कोविड-19 ‘कंवलसेंट प्लाज्मा प्रोजेक्ट' के लिए हस्ताक्षर किए। कई अस्पतालों ने प्लाज्मा दान और अनुसंधान के लिए समूह का गठन किया। पिनकेनी मार्च के पहले सप्ताह में बीमार हुई थी। सबसे पहले उन्हें बुखार आया और फिर ठंड लगने लगी। वह ठीक से सांस भी नहीं ले पा रही थी। और गहरा सांस लेने पर सीने में दर्द हो रहा था। दो बच्चों की अकेली मां पिनकेनी अपने नौ और 16 साल के बेटों के बारे में चिंतित है। 

‘‘मुझे याद है, मैं बाथरूम के फर्श पर बैठी रो रही थी।'' 39 वर्षीय पिनकेनी का माउंट सिनाई में इलाज हुआ था और जब अस्पताल ने उन्हें स्वास्थ्य जांच के लिए बुलाया और उनसे पूछा कि क्या वह रक्त दान पर विचार करेगी तो उन्होंने ऐसा करने से संकोच नहीं किया।

Advertisement
Back to Top