कौन है यह अमेरिकी शख्स, जो 2010 से ही जानता था कोरोना के बारे में...

Who is this American man who knew about Corona since 2010 - Sakshi Samachar

अपनी फिल्म में किया है इसका जिक्र

क्या है फिल्म की कहानी

कोरोना राज्य में रखी गई थी राजकुमारी

लॉकडाउन की गंभीरता नहीं समझ रहे हम 

हैदराबाद : आज दुनिया भर को जिस कोरोना वायरस ने हलकान कर रखा है, जिससे बचने के लिए दुनिया के पास अब तक कोई उपाय मौजूद नहीं है, जिसे लेकर सारी दुनिया चीन पर दोषारोपण कर रही है, खुद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी जिसे लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त की और कहा कि समय रहते यदि चीन ने इस खतरनाक वायरस के बारे में जानकारी दे दी होती तो आज इतनी बड़ी संख्या में जान-माल का नुकसान न हुआ होता न ही इतनी बड़ी संख्या में लोग इस वायरस के संक्रमण से काल के गाल में समा जाते!

अपनी फिल्म में किया है इसका जिक्र
बहरहाल, सवाल यह है कि जहां दुनिया के सबसे शक्तिशाली माने जाने वाले देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी पहले से इस वायरस की जानकारी नहीं थी, वहीं यह जानकारी चौंकाने वाली है कि हॉलीवुड के एक जाने-माने प्रोडक्शन कंपनी को 10 साल पहले से ही कोरोना के बारे में पता था। दरअसल, ट्विटर यूजर्स की मानें तो एनिमेटेड प्रोडक्शन कंपनी 'डिज़्नी' को इसकी जानकारी बहुत पहले से थी। यहां तक कि डिज्नी ने अपनी फिल्म 'टैंगल्ड' (Tangled) में इसका जिक्र भी किया था। 

क्या है फिल्म की कहानी
दरअसल, फिल्म 'टैंगल्ड' डिज्नी की एक राजकुमारी की कहानी है। यह राजकुमारी कोरोना राज्य की थी जिसे एक महिला ने अगवा करके टावर में 18 साल तक रखा था। खास बात यह है कि कहानी के मुताबिक जिस टावर में राजकुमारी को कैद करके रखा गया था, उसका नाम 'क्वारंटीन' था। फिल्म के इसी 'कोरोना' राज्य और 'क्वारंटीन' टावर से लोग वर्तमान समय की स्थिति को जोड़ रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : 'लॉकडाउन' है अनिवार्य, वरना कोरोना से बचना मुश्किल, जानें क्यों है जरूरी 'लॉकडाउन'?

कोरोना राज्य में रखी गई थी राजकुमारी
साल 2010 में वॉल्ट डिज्नी एनिमेशन स्टुडियोज निर्मित अमेरिकी थ्रीडी कंप्यूटर एनिमेटेड म्यूजिकल एडवेंचर फिल्म 'टैंगल्ड' रिलीज हुई थी। डिज्नी की 50वीं एनिमेटेड यह फिल्म जर्मन फेयरी टेल रैपुन्जेल  (Rapunzel) की कहानियों के समूह से निकली है। फिल्म निर्माताओं की यह कहानी इस वक्त की स्थिति से इतनी ज्यादा मेल कैसे खाती है, यह तो वही जानें लेकिन इतना जरूर है कि अब इस फिल्म की कहानी को लेकर यूजर्स सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने वीडियो पोस्ट करके लिखा, क्या आप लोगों को इस बात का अहसास है कि रैपुन्जेल को कोरोना राज्य में 'क्वारंटीन' में रखा गया था।

लॉकडाउन की गंभीरता नहीं समझ रहे हम 
बता दें कि कोरोना का असर इन दिनों इस कदर बढ़ चुका है कि कितने ही देशों ने खुद को पहले से ही पूरी तरह से 'लॉकडाउन' कर दिया गया है। वहीं, दूसरी ओर रविवार 22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' के बाद सोमवार 23 मार्च से 31 मार्च तक पूर्णतः 'लॉकडाउन' के लिए कहा गया था। हालांकि सोमवार को जनता ने 'लॉकडाउन' का पालन नहीं किया, जिससे कोरोना का खतरा और भी बढ़ गया है। जनता के 'लॉकडाउन' को हल्के में लेने के बाद के हालात को देखते हुए पीएम मोदी की नाराजगी सभी राज्य सरकारों को झेलनी पड़ी है। पीएम ने साफ कर दिया कि राज्य सरकारें इस मुद्दे को गंभीरता से लें और कड़ाई से इसका पालन करवाएं। इसके बाद पंजाब-हरियाणा और महाराष्ट्र की सरकार ने राज्य में कर्फ्यू लगा दिया। अब आगे आगे देखिए, होता है क्या!!

- सुषमाश्री

यह भी पढ़ें : कोरोना को लेकर चीन से नाराज हैं ट्रंप, कहा- समय रहते देते जानकारी तो बच जाती कई जानें​

Advertisement
Back to Top