पाक का नया पैंतरा, कहा- कुलभूषण नहीं दाखिल करना चाहता रिव्यू पिटीशन

Pakistan authorities Claims Kulbhushan Jadhav Refused to File Review Petition - Sakshi Samachar

कुलभूषण जाधव ने जासूसी मामला

पाकिस्तान अथॉरिटी का दावा

कुलभूषण ने रिव्यू याचिका दाखिल करने से किया इनकार

नई दिल्ली : पाकिस्तान की ओर से दावा किया गया है कि, कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दायर करन से इनकार कर दिया है। यह जानकारी दी गयी है कि कुलभूषण जाधव ने फिलहाल दया याचिका पर ही कायम रहने का फैसला लिया है। 

एक जानकारी के मुताबिक बीते 17 जून 2020 को को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को कहा गया था कि वे एक पुनर्याचिका  दायर कर सकते हैं, और अपनी सजा के बारे में अपील कर सकते हैं । लेकिन कुलभूषण जाधव ने ऐसा करने से इनकार कर दिया है। बुधवार को पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल अहमद इरफान ने इस बारे में दावा किया है ।  

पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल अहमद इरफान ने इस बारे में एक संवाददाता संम्मेलन बुला कर इसकी जानकारी पत्रकारों को दी है ।  उन्होने बताया कि कुलभूषण जाधव ने  17 जून 2017 को अपनी मर्सी अपील पर कायम रहने का फैसला लिया है।  

बतादें कि 17 जुलाई, 2019 को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने अपने फ़ैसले में पाकिस्तान को यह आदेश पारित कर कहा था कि वह जाधव की मौत की सज़ा पर पुनर्विचार करे और उन्हें काउंसुलर ऐक्सेस प्रदान करे। उस वक्त इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने कहा था कि काउंसुलर एक्सेस नहीं देकर पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन का उल्लंघन किया है।  

वहीं, बुधवार को पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय में आयोजित प्रेस वार्ता में अतिरिक्त अटॉर्नी जनरल ने इस बात की भी जानकारी दी है कि,  पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को अपने परिजनों से मुलाक़ात करवाने का ऑफर भी दिया है।  उन्होने बताया कि भारत सरकार को इसकी जानकारी दे दी गई है। साथ ही उन्हे कुलभूषण जाधव को को दोबारा काउंसुलर एक्सेस के ऑफर पर भारत के जवाब की प्रतीक्षा है । 

गौरतलब है कि पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में मौत की सज़ा सुनाई है । 
 

Advertisement
Back to Top