फिर एक बार LAC पर घटा तनाव, गलवान घाटी से पीछे हटी चीनी और भारतीय सेना

Once again the tension on the LAC decreased, the Galvan Valley Chinese and Indian Army retreated - Sakshi Samachar

कई दिनों से दोनों देशों के बीच बना हुआ है तनाव

चीनी सेना दो किमी और भारतीय सेना एक किमी हटीं पीछे

6 जून को दोनों देशों के बीच होने वाली है अहम बैठक

नई दिल्ली : भारत और चीनी सेना के बीच झडप की खबरें तो अक्सर सुनने को मिलती रही हैं, लेकिन लंबे समय बाद इस कदर माहौल तनावपूर्ण हुआ था। इस बीच बुधवार देर शाम एक अच्छी खबर सामने आई। सूत्रों के मुताबिक लद्दाख सीमा पर दोनों देशों की सेनाएं पीछे हट गई हैं और माहौल में कुछ नरमी देखने को मिल रही है।

चीनी सेना दो किमी और भारतीय सेना एक किमी हटीं पीछे

बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाएं कुछ पीछे हट गई हैं। खबरों के मुताबिक चीनी सेना 2 किमी और भारतीय सेना अपनी जगह से 1 किमी पीछे हटी हैै। यहां के फिंगर फोर इलाके में कई हफ्ते से दोनों देशों की सेना एक दूसरे के सामने डटी हुई थी।

पैंगोंग इलाका सबसे ज्यादा विवादों में

गलवान घाटी में फोर फिंगर इलाके में भारत और चीनी सेनाओं के बीच कुछ दिनों से तनाव बना हुआ है। यहां का पैंगोंग इलाका सबसे ज्यादा विवादों में है। 6 जून को दोनों देशों के बीच जो बैठक होने वाली है, उसमें पैंगोंग पर ही ज्यादा फोकस रहने की संभावना है। चीनी सेना फिंगर फोर इलाके में कई हफ्ते से डटी हुई है, जो भारत के नियंत्रण में हैै।

यह भी पढें : तो क्या पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति मिलकर तैयार कर रहे हैं चीन को सबक सिखाने का कोई प्लान!

6 जून को दोनों देशों के बीच अहम बैठक

बता दें कि लद्दाख के सीमावर्ती क्षेत्र में चीन की सेना अपना दम दिखाने की कोशिश कर रही है। भारतीय सेना भी उसके सामने डट गई है। दोनों तरफ से बातचीत भी जारी है, लेकिन अब तक गतिरोध खत्म नहीं हो पाया हैै। अब एक बार फिर दोनों मुल्कों की सेना बातचीत करने जा रही है। यह मीटिंग 6 जून को प्रस्तावित है। मीटिंग में दोनों सेनाओं के लेफ्टिनेंट जर्नल रैंक के अधिकारी हिस्सा लेंगे। यह मीटिंग भारत और चीन के बीच चल रहे विवाद के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है। इस मीटिंग को भारत की तरफ से लेह स्थित 14 कॉर्प कमांडर का डेलीगेशन लीड करेगा। यह उच्च स्तरीय मीटिंग सीमा पर संकट खत्म करने के लिहाज से काफी अहम मानी जा रही है।

कई हफ्ते से चल रहा विवाद

पूर्वी लद्दाख में यह विवाद मई की शुरुआत से चलता आ रहा है। लद्दाख में LAC पर भारत की तरफ से सड़क निर्माण का काम कराया जा रहा था, जिसका चीन ने विरोध किया। इसके बाद 5 मई को पैंगोंग लेक पर दोनों देशों के सैनिक भिड़ गए। इस झड़प में जवान घायल भी हुए थे। इसके बाद चीन ने इलाके में सक्रियता बढ़ा दी और सैनिकों की तैनाती के साथ ही तंबू भी लगा दिए। LAC पर चीन की इस हरकत का भारतीय सेना ने भी माकूल जवाब दिया और वो भी वहीं डट गए।

यह भी पढें : भारत-चीन सीमा विवाद : मध्यस्थता की पेशकश पर ट्रंप को भारत का जवाब, हमें किसी मध्यस्थ की नहीं जरूरत​

Advertisement
Back to Top