प्लेन क्रैश : रन वे पर ऐसा देखते ही 10 फीट नीचे कूदा तो बची जान, लोगों ने पढ़ना शुरू किया कलमा

 Know Dreadful Story Of Plane Crash In Karachi By Survivor - Sakshi Samachar

 लैंडिंग से कुछ मिनट पहले हुआ था प्लेन क्रैश 

इंजन फेल होने की वजह से हुआ हादसा 

कराची : पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर और सिंध प्रांत की राजधानी कराची में शुक्रवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का विमान दिल दहला देने वाले हादसे का शिकार हो गया। प्लेन में करीब 107 लोग सवार थे जो कि यात्रा कर रहे थे। शुरुआत में तो यह कहा जा रहा था कि इस हादसे में सभी यात्रियों की जान चली गई है, लेकिन बाद में पता चला कि हादसे दो लोग बाल- बाल जीवित बच गए हैं। इनमें से एक बैंक ऑफ पंजाब के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर जफर मसूद और दूसरे पेशे से इंजीनियर मोहम्मद जुबेर हैं। दोनों फिलहाल घायल है। 

मोहम्मद जुबेर ने मीडिया को हादसे की पूरी जानकारी देते हुए कहा- 'ईद की छुट्टी के लिए मैं लाहौर से कराची आ रहा था। उड़ान के वक्त प्लेन ठीक था। पहली बार लैंडिंग के समय हमने दो-तीन झटके महसूस किए। हादसे के बाद थोड़ी देर के लिए होश ही नहीं रहा, लेकिन बाद मैंने अपनी सीट बेल्‍ट खोली तो मुझे एक ओर कुछ रोशनी दिखाई दी। मैं उसी तरफ आगे बढ़ा।  मैंने 10 फीट नीचे कूदकर खुद को बचाया।'

लैंडिंग से 2-3 मिनट में प्लेन क्रैश हो गया
जु
बेर ने बताया, "प्लेन एक बार रनवे को छूकर फिर वापस ऊपर चला गया। उन्‍होंने बताया कि 10 मिनट तक उड़ान भरने के बाद पायलट ने अनाउंस किया कि हम दोबारा लैंडिंग करने जा रहे हैं। इसके बाद पायलट ने विमान को उतारने की कोशिश की और वह दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। उन्‍होंने कहा, 'मैंने देखा कि हादसे के बाद हर तरफ धुंआ और आग ही आग दिख रही थी। मुझे हर तरफ से चीखें सुनाई पड़ रही थीं। हर तरफ आग लगी हुई थी। मैं लोगों को देख नहीं सका क्‍योंकि चारों तरफ धुंआ था। मैं केवल सभी यात्रियों की चीखें सुन सका।'

बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसिडेंट भी बचे, यूपी के अमरोहा से ताल्लुक रखते हैं
इस हादसे में दूसरे बचने वाले पैसेंजर जफर मसूद है।  वे पाकिस्तान के बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसिडेंट हैं। उन्हें कराची के दारूल सेहत हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया है। जफर के  है।  उन्हें कूल्हे और कॉलर की हड्डी पर चोटें आईं हैं, लेकिन खतरे से बाहर है। जफर का भारत से भी नाता  है। दरअसल वे उत्तर प्रदेश के अमरोहा शहर से ताल्लुक रखते हैं। जफर पाकीजा फिल्म के डायरेक्टर कमाल अमरोही के खानदान से ताल्लुक रखते हैं। मसूद के परनाना कमाल अमरोही के कजिन थे। मसूद के एक रिश्तेदार आदिल जफर ने बताया, "1952 में मसूद का परिवार पाकिस्तान चला गया था। मैं 2015 में कराची में मसूद से मिला था। उन्हें भारत बेहद पसंद है, वे अमरोहा आकर अपने पूर्वजों के घर को देखना चाहते हैं।

Advertisement
Back to Top