एक हाथ में कुरान, दूसरे में चाकू, पढ़िए किसने फैलाई फ्रांस में दहशत

terror attack on France Nice city Church  - Sakshi Samachar

फ्रांस में दो महीनों में तीसरा हमला 

चर्च में चाकू लेकर पहुंचा हमलावर

संदिग्ध के हाथ में थी कुरान 

नीस : पिछले दो महीनों में फ्रांस में तीसरा हमला हुआ है। फ्रांस के शहर नीस में बृहस्पतिवार को एक चर्च में लोगों पर चाकू से हमला करने वाले ट्यूनीशियाई हमलावर के हाथ में कुरान भी थी। इस हमले में तीन लोगों की मौत हुई थी। हमले के बाद सरकार ने सुरक्षा अलर्ट को बढ़ाकर अधिकतम स्तर का कर दिया। 

नोट्रेडैम चर्च (गिरजाघर) में हमले को अंजाम देने वाला हमलावर पुलिस द्वारा पकड़े जाने के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गया था और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत नाजुक है। 

फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल का ऐलान

इस वारदात स्थल से एक किलोमीटर की दूरी पर साल 2016 में बास्तील डे परेड के दौरान एक हमलावर ने ट्रक को भीड़ में घुसा दिया था, जिसमें दर्जनों लोगों की मौत हो गई थी। 
फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि वो तुरंत स्कूलों और धार्मिक स्थलों की रक्षा के लिए तैनात सैनिकों की संख्या लगभग 3,000 से बढ़ाकर 7,000 तक करेंगे।

कौन है चर्च पर हमला करने वाला शख्स?

फ्रांस के आतंकवाद निरोधी अभियोजक ने बताया कि संदिग्ध एक ट्यूनीशियाई है। उसका जन्म 1999 में हुआ था। वो 20 सितंबर को लैंपड्यूसा के इतालवी द्वीप पहुंचा था और नौ अक्टूबर को दक्षिणी इटली के एक बंदरगाह शहर बारी पहुंचा। हालांकि अभियोजक ज्यां-फांसवा रिकॉर्ड ने संदिग्ध नीस कब पहुंचा इसकी कोई जानकारी नहीं दी।

इसे भी पढ़ें : 

अफगानिस्तान में आतंकी हमला, 14 सुरक्षाकर्मियों की मौत

रिकार्ड ने बताया कि हमलावर के पास पवित्र ग्रंथ कुरान की एक प्रति और दो फोन थे। ट्यूनीशिया की आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘टीएपी' ने आतंकवाद रोधी अभियोजक कार्यालय के हवाले से बताया कि ट्यूनीशियाई व्यक्ति द्वारा देश की सीमा के बाहर कथित तौर पर आतंकवादी वारदात को अंजाम देने के मामले में जांच शुरू कर दी गई है।

पहले भी हुए फ्रांस में हमले 

16 अक्टूबर, 2020: पेरिस में हिस्ट्री टीचर की हत्या कर दी गई। आरोप था कि टीचर ने अपनी क्लास में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाया था। पुलिस ने हमलावर को एनकाउंटर में मार दिया था।

25 सितंबर, 2020: पेरिस में चार्ली हेब्दो के पुराने दफ्तर के बाहर एक व्यक्ति ने दो लोगों पर चाकू से हमला किया। व्यक्ति की पहचान पाकिस्तानी नागरिक के तौर पर हुई, जिसपर बाद में आतंकी धाराएं लगाई गईं।
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top