अर्मेनिया-अजरबैजान ने की संघर्ष-विराम की घोषणा, इस देश ने निभाई अहम भूमिका

Armenia-Azerbaijan Truce Second Attempt Latest Update  - Sakshi Samachar

येरेवान : आर्मीनिया और आजरबेजान ने संघर्ष विराम लागू करने के लिए दूसरे प्रयास के बीच रविवार को एक-दूसरे पर इसके उल्लंघन का आरोप लगाया। दोनों देशों ने एक दिन पहले ही नागोर्नो-काराबाख को लेकर जारी तनाव के बीच संघर्षविराम समझौता लागू करने की कोशिश की थी। दोनों देशों के बीच 27 सितंबर को लड़ाई शुरू हो गयी थी और उसके बाद दो बार संघर्ष विराम के लिए प्रयास किए जा चुके हैं। दोनों ओर से हो हमलों में सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है।

आर्मीनिया के सैन्य अधिकारियों ने रविवार को कहा कि आजरबैजान सैनिकों ने टकराव वाले क्षेत्र में रात भर गोलाबारी की और मिसाइल दागे। रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस हमले में दोनों ओर के कई लोग हताहत हुए हैं। उधर, आजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने आर्मीनिया पर आरोप लगाया कि उसके सैनिकों ने संघर्ष विराम होने के बाद भी गोलाबारी की।

आजरबैजान ने आर्मीनिया पर बड़े हथियारों का उपयोग करने का आरोप लगाया। नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र आजरबैजान में स्थित है, लेकिन इस पर 1994 से आर्मीनिया समर्थित आर्मीनियाई जातीय समूहों का नियंत्रण है।

Advertisement
Back to Top