जीएचएमसी चुनाव : डीजीपी ने कहा कि विवादास्पद भाषण जांच के दायरे में होंगे

Telangana DGP says provocative political speeches being examined in GHMC Elections - Sakshi Samachar

कानून का उल्लंघन हुआ है तो मामला दर्ज

विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा न दें

हैदराबाद : तेलंगाना के पुलिस महानिदेशक एम महेंदर रेड्डी (M Mahender Reddy)ने गुरुवार को कहा कि जीएचएमसी (GHMC) चुनावों से पहले नेताओं द्वारा दिए गए 'विवादास्पद' बयान कानूनी जांच के दायरे में होंगे और किसी भी भाषण में अगर कानून का उल्लंघन हुआ है तो मामला दर्ज किया जाएगा। डीजीपी ने यहां संवाददाताओं से कहा, "सभी भाषणों की... हम अब कानूनी एवं त्वरित जांच कर रहे हैं... अगर वे भड़काऊ पाए जाते हैं या उनका उद्देश्य विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना हुआ तो कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी और उसी मुताबिक मामले दर्ज किए जाएंगे।'' 

महेंदर रेड्डी कुछ भाषणों के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे जिनमें एक दिसंबर को ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के प्रचार के दौरान भाजपा (BJP) की राज्य इकाई के अध्यक्ष और सांसद बी संजय कुमार (B Sanjay Kumar) तथा एआईएमआईएम (AIMIM) के नेता अकबरूद्दीन ओवैसी (Akbaruddin Owaisi) के कुछ भाषण शामिल हैं। 

भाजपा नेता ने कहा था कि नगर निकाय चुनावों में महापौर का पद जीतने के बाद उनकी पार्टी पुराने शहर में "सर्जिकल स्ट्राइक'' कर रोहिंग्या और पाकिस्तानियों को खदेड़ देगी। वहीं, ओवैसी ने बुधवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि क्या हुसैन सागर झील के तट पर बने पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव और तेदेपा के संस्थापक एन टी रामाराव की 'समाधियों' को हटाया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें :

अकबरुद्दीन ओवैसी ने दिया विवादित बयान; टीआरएस, भाजपा ने निंदा की

GHMC Elections 2020 : भाजपा ने सीएम KCR से कहा, जानकारी है तो कार्रवाई करें

ओवैसी जलाशयों के नजदीक रह रहे 'गरीब लोगों' को हटाने के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के संदर्भ में बोल रहे थे। इस बीच, राज्य चुनाव आयोग ने परामर्श जारी कर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से कहा है कि राजनीतिक दलों या उनके उम्मीदवारों के भड़काऊ भाषणों का प्रसारणबढ़ा-चढ़ाकर नहीं करे और उन्हें बार-बार नहीं दिखाए। 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top