हनुमान जयंती 2020 : इस बार लॉकडाउन के चलते ऐसे घर में करें बजरंगबली की पूजा, ये है पूजा सामग्री व मुहूर्त

Significance of hanuman jayanti puja method muhurat - Sakshi Samachar

लॉकडाउन के चलते घर में होगी हनुमान जयंती की पूजा ं 

घर में ऐसे शुभ मुहूर्त में विधि-विधान से करें पूजा 

चैत्र माह की पूर्णिमा को रामभक्त हनुमान का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इसीको हनुमान जयंती कहते हैं जो इस बार 8 अप्रैल बुधवार को मनाई जाएगी। इस दिन हनुमानजी के मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना होती है, मंदिरों को इसके लिए खासतौर पर सजाया भी जाता है। 
पर इस बार लॉकडाउन के चलते आप मंदिर जाकर पूजा नहीं कर पाएंगे। तो कोई बात नहीं श्रद्धा-भक्ति होनी चाहिए और भक्तिभाव से पूजा तो आप घर पर भी कर सकते हैं। 

ये है हनुमानजी की पूजा सामग्री 

पूजा में हनुमानजी की मूर्ति को स्नान कराने के लिए तांबे का बर्तन, तांबे का लोटा, दूध, वस्त्र, आभूषण, सिंदूर, दीपक, तेल, रुई, धूपबत्ती, फूल, चावल, प्रसाद के लिए फल, घर में बनी मिठाई, नारियल, पंचामृत, सूखे मेवे, मिश्री, पान, दक्षिणा आदि चीजें रख सकते हैं।

हनुमानजी की पूजा का मुहूर्त 

इस वर्ष चैत्र मास की पूर्णिमा ति​थि का आरंभ 07 अप्रैल 2020 दिन मंगलवार को दोपहर 12:01 बजे हो रहा है, जो 08 अप्रैल 2020 दिन बुधवार को सुबह 08:04 बजे तक रहेगी। ऐसे में बुधवार को हुनमान जयंती मनाई जाएगी। मंगलवार के दिन दोपहर से पूर्णिमा तिथि प्रारंभ हो रही है। इसमें पूर्णिमा का सूर्योदय व्यापनी मुहूर्त नहीं है, इसलिए 08 अप्रैल को सुबह 08 बजे से पूर्व ही आप हनुमान जी की पूजा अर्चना कर लें। बुधवार को सुबह 08:04 बजे के बाद वैशाख मास प्रारंभ हो जाएगा। बुधवार को सुबह सर्वार्थ सिद्धि योग भी बना हुआ है, हलां​कि यह केवल 4 मिनट का है। सुबह 06:03 बजे से 06:07 बजे के मध्य सर्वार्थ सिद्धि योग में हनुमान जी की पूजा कर लेना उत्तम रहेगा।

ऐसे करें घर में हनुमानजी की पूजा 

- घर के मंदिर में पूजा की व्यवस्था करें। सबसे पहले श्रीगणेश का पूजन करें। गणेशजी को स्नान कराएं। वस्त्र अर्पित करें। फूल, धूप, दीप, चावल से पूजन करें।

- हनुमान जी के जन्मोत्सव के दिन स्नान करने के बाद अपने घर के मंदिर में हनुमान जी के समक्ष दीप जलाएं। अगर संभव हो तो इस दिन हनुमान जी के समक्ष घी का दीपक जलाएं। 
 
- हनुमान जन्मोत्सव के दिन हनुमान जी का श्रृंगार अवश्य करें। सबसे पहले हनुमान जी को स्नान करवाएं, उसके बाद हनुमान जी को साफ धुले हुए वस्त्र पहनाएं। अगर आपके घर में हनुमान जी का सिंदूर है तो इस दिन आप घर में ही चोला भी चढ़ा सकते हैं। सिंदूर में घी या चमेली का तेल मिलाकर हनुमान जी को चढ़ाने से हनुमान जी खुश होते हैं।

- हनुमान जी का श्रृंगार करने के बाद हनुमान जी की पूजा करें। घर में ही हनुमान चालीसा का पाठ करें और भगवान राम के नाम का संकीर्तन करें। इस दिन हनुमान चालीसा, संकटमोचन हनुमानअष्टक, बजरंग बाण का पाठ भी करना चाहिए। अगर संभव हो तो इस दिन सुंदरकांड का पाठ भी करें।

- इच्छानुसार भोग लगाएं। हनुमान जी को सात्विक आहार का भोग लगाया जाता है और भोग में कुछ न कुछ मीठा अवश्य बनाएं।

- भोग लगाने के बाद परिवार के सभी सदस्य हनुमान जी की आरती करें। आरती के बाद हनुमान जी को लगाएं हुए भोग को प्रसाद के रुप में सभी परिवार के लोगों को दें। अगर संभव हो तो भोग का एक हिस्सा गाय को भी खिलाएं।

इसे भी पढ़ें : 

हनुमान जयंती 2020 : इस दिन यूं राशि अनुसार पवनपुत्र की पूजा करें और मनोवांछित फल पाएं

हनुमान जयंती 2020 : जानें आखिर क्यों भगवान शिव को लेना पड़ा हनुमान अवतार, क्या था इसका कारण

Advertisement
Back to Top