जानें आखिर क्यों खास है शरद पूर्णिमा, दिवाली से पहले क्यों इस दिन होती है मां लक्ष्मी की पूजा

Know why Sharad Purnima is special why is Lakshmi worshiped on this day before Diwali - Sakshi Samachar

तो इसलिए खास है शरद पूर्णिमा 

शरद पूर्णिमा पर होती है मां लक्ष्मी की विशेष पूजा 

मां लक्ष्मी का अवतरण दिवस है शरद पूर्णिमा 

हर महीने में पूर्णिमा आती है पर शरद पूर्णिमा का खास महत्व होता है। आश्विन माह की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहते हैं और माना जाता है कि इस दिन चांद अपनी सोलह कलाओं में होता है। साथ ही यह भी मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की रात को चांद से निकलने वाले किरणें अमृत की तरह होती है। इस दिन रात को चांद की विशेष पूजा होती है, चांद की चांदनी में कुछ देर बैठते हैं ताकि ये किरणें हम पर पड़े। 

वहीं शरद पूर्णिमा वाली रात को खीर बनाकर चांद की रोशनी में पूरी रात रखा जाता है। ऐसे मान्यता है कि शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा की किरणें जब पूरी रात खीर पर पड़ती तो खीर में विशेष औषधिगुण आ जाती है। 

शरद पूर्णिमा का महत्व 

माना जाता है कि  शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा पृथ्वी के बहुत ही करीब आ जाता है जिस वजह से चांद की खूबसूरती और भी बढ़ जाती है। शरद पूर्णिमा के दिन से ही  स्नान और व्रत आदि प्रारंभ हो जाते हैं। शरद पूर्णिमा पर रात को निकलने वाली चांद की किरणें बहुत ही लाभकारी होती है।

अश्विन पूर्णिमा या शरद पूर्णिमा व्रत का शुभ मुहूर्त

पूर्णिमा आरम्भ: अक्टूबर 30, 2020 को 17:47:55 से

पूर्णिमा समाप्त: अक्टूबर 31, 2020 को 20:21:07 तक

शरद पूर्णिमा की रात जागरण का महत्व 

माना जाता है कि शरद पूर्णिमा की रात को पृथ्वी पर मां लक्ष्मी का आगमन होता है और वे घर-घर जाकर सबको वरदान देती हैं, किन्तु जो लोग दरवाजा बंद करके सो रहे होते हैं, वहां से लक्ष्मी जी दरवाजे से ही वापस चली जाती हैं। तभी शास्त्रों में इस पूर्णिमा कोजागर व्रत यानी कौन जाग रहा है व्रत भी कहते हैं। इस दिन की लक्ष्मी पूजा सभी कर्जों से मुक्ति दिलाती हैं। अतः शरद पूर्णिमा को कर्ज मुक्ति पूर्णिमा भी कहते हैं।

इसी दिन हुआ था मां लक्ष्मी का अवतरण 

शरद पूर्णिमा को ही दिवाली से पहले मां लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है। इस दिन को कोजागरी पूर्णिमा या कोजागरी लक्ष्मी पूजा के नाम से भी जाना जाता है। माना जाता है कि इसी दिन मां लक्ष्मी का अवतरण हुआ था। तो इसे मां लक्ष्मी के जन्मदिन के रूप में भी मनाया जाता है।

इसे भी पढ़ें : 

शरद पूर्णिमा 2020: खास होती है ये रात, पृथ्वी पर आती है मां लक्ष्मी, करेंगे ये खास उपाय तो धन-धान्य से भर जाएंगे भंडार

ऐसा कहा जाता है कि शरद पूर्णिमा के दिन जो भी विधि-विधान से मां लक्ष्मी की पूजा करता है, उन्हें प्रसन्न करने के लिए खास उपाय करता है उन पर मां लक्ष्मी कृपा बरसाती हैं। 

Advertisement
Back to Top