अभिनेता सुशांत के पिता ने ट्वीट कर मांगा न्याय, कहा- हो मामले की CBI जांच

sushants father asks for justice demands Cbi inquiry  - Sakshi Samachar

बेटे सुशांत की मौत पर पिता का बयान

मामले में की सीबीआई जांच की मांग

सुशांत सिंह राजपूत ने की थी आत्महत्या

पटना : बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके कथित आत्महत्या मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग उनके अपने शहर पटना में अब जोर पकड़ती जा रही है। इस बीच, सुशांत के पिता क़े क़े सिंह का एक ट्वीट भी सामने आया है, जिसके जरिए वे भी अपने पुत्र के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। उन्होंने भी इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है । 

सुशांत के पिता के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में लिखा गया है, "आज मेरे बेटे सुशांत की आत्मा रो रही है और सीबीआई जांच की मांग कर रही है।"

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "मेरा बेटा सुशांत सिंह राजपूत बहुत बहादुर था। मुझे मालूम है, वो कभी आत्महत्या नहीं कर सकता। उसकी हत्या करके आत्महत्या साबित करने की कोशिश की जा रही है। मैं निवेदन करता हूं कि पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।"

सीबीआई जांच के पक्ष में कई अन्य संगठन

इधर, उनके ट्वीट पर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं भी सामने आ रही हैं। इस बीच, सुशांत के चचेरे भाई और छातापुर के पूर्व विधायक नीरज कुमार सिंह उर्फ बबलू ने कहा कि इस मामले की जांच सीबीआई से होनी ही चाहिए। इसकी मांग तो कई संगठनों द्वारा भी की जा रही है। उन्होंने सुशांत के पिता के ट्विटर एकाउंट की भी पुष्टि की।

उल्लेखनीय है कि पटना के रहने वाले सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को कथित रूप से अपने मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट पर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद से ही विभिन्न सामाजिक संगठनों और  राजनीतिक संगठनों द्वारा पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग हो रही है।

शुक्रवार को फिल्म सेंसर बोर्ड की परामर्शदात्री समिति के पूर्व सदस्य ललन कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने बिहार के राज्यपाल फागू चौहान से मिलकर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई से कराने का आग्रह किया था। प्रतिनिधिमंडल द्वारा राज्यपाल को सौंपे गए ज्ञापन में राजगीर में बन रही फिल्म सिटी का नामकरण उनके नाम से करने के लिए राज्य सरकार को निर्देश देने का आग्रह भी किया गया था।
 

Advertisement
Back to Top