महज़ पुरस्कार सहेजने में अनुपम नहीं करते यकीन

Success is different for Anupam Kher - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : मशहूर चरित्र अभिनेता अनुपम खेर को अपने अतीत और काम पर गर्व है हालांकि वह इस दौरान मिले पुरस्कारों और उपलब्धियों को ही महज़ सहेजने में विश्वास नहीं रखते।

खेर के लिए सफलता के मायने वह नहीं हैं, जो इन्होंने बतौर कलाकार हासिल किया है बल्कि वह हैं, जो एक व्यक्ति के रूप में उनके पास है।

अनुपम खेर ने कहा, "मैंने दो साल पहले यह तय किया कि मैं फिर से नई शुरुआत करूंगा। जब मैं न्यूयॉर्क आया तो मैंने फैसला लिया कि इतने साल के दौरान मैंने जो कुछ भी किया है, उसे मैं भूल जाऊंगा, बेशक लोग उसे याद रखेंगे। मैं सबका शुक्रगुजार हूं लेकिन मैं नई शुरुआत करूंगा।"

उन्होंने आगे कहा, "इस तरह इंडस्ट्री में यह मेरा दूसरा साल है और मुझे अभी बहुत कुछ करना है। मुझे अपने अतीत और काम पर गर्व है, लेकिन मैं उस तरह का व्यक्ति नहीं हूं कि अपने पुरस्कारों को सहेजने में लगा रहूं। दो साल पहले मैंने यह तय किया कि एक अंतराल के बाद अब सफर शुरू हुआ है। मुझे मालूम है और इस बात का भान भी है कि इन वर्षों में मैंने क्या सीखा है। मैं जो कर रहा हूं उसमें उसका प्रयोग कर सकता हूं। मैं जिस तरह का व्यक्ति बन गया हूं उससे मैं खुश हूं। यह सबसे महत्वपूर्ण बात है।"

यह भी पढ़ें : शादी की सालगिरह पर अल्लू अर्जुन ने पत्नी से कहा, हर रोज बढ़ रहा प्यार

'न्यू एम्स्टर्डम' स्टार ने आगे कहा, "सफलता वह नहीं है जो आपको पुरस्कार या अवार्ड के रूप में मिला है। सफलता वह है जो आपको व्यक्ति के रूप में मिला है, जिसमें आप दूसरों को प्रेरित कर सकते हैं या उनके लिए उदाहरण बन सकते हैं।"

यह भी पढ़ें : ईशा अंबानी की होली पार्टी में कैटरीना के पीछे पीछे पहुंचा ये एक्टर, रंग लगाते वीडियो वायरल

बता दें कि अनुपम खेर सात मार्च को 65 वर्ष के हुए हैं। वह इन दिनों न्यूयॉर्क में रह रहे हैं। इस साल उन्होंने अपना जन्म दिन अपने दोस्त व हॉलीवुड के मशहूर शख्सियत रॉबर्ट डी नीरो के साथ मनाया।

Advertisement
Back to Top