सोनू सूद ने फिर दिखाई दरियादिली, तीन अनाथ बच्चों की ली जिम्मेदारी

Sonu Sood again showed generosity took responsibility of three orphans - Sakshi Samachar

सोनू सूद लगातार जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं

उन्होंने तेलंगाना के तीन अनाथ बच्चों की ली जिम्मेदारी

हैदराबाद : कोरोना महामारी जहां कई लोगों से उनका सब कुछ छीन रही है, वहीं एक्टर सोनू सूद ऐसे कई लोगों से कहते नजर आ रहे हैं 'मैं हूं ना'। कहने को तो ये तीन शब्द मात्र है पर जिसका कोई सहारा नहीं होता उनके लिए ये शब्द काफी मायने रखते हैं। 

सोनू सूद इस कोरोना काल में जरूरतमंदों के मसीहा बन गए हैं। जहां इस दौर में हर किसीको अपनी लगी है वहीं सोनू सूद सबकी मदद करने में लगे हैं। रील से रियल लाइफ हीरो बनने का सफर तय कर रहे हैं। फिल्मों में तो उन्हें विलेन के रोल में देखा जाता है पर वास्तविक जीवन में कई लोगों की मदद करके वे असली हीरो बन चुके हैं। 

लॉकडाउन के दौरान उन्होंने हजारों प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाया और विदेशों में फंसे छात्रों और अन्य लोगों को वापस लाने के लिए कड़ी मेहनत की।

हाल ही में एपी में, मदनपल्ले के किसान को एक ट्रैक्टर दिया और लॉकडाउन के कारण, एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर शारदा जो नौकरी खो चुकी थी और सब्जियां बेच रही थी, उसको नौकरी दिलवाई 

हाल ही में सोनू सूद ने तेलंगाना के यादाद्री, भुवनगिरी में तीन अनाथ बच्चों की जिम्मेदारी लेकर फिर खुद को रियल हीरो साबित किया। 

विस्तार से जानें तो पता चलता है कि यादाद्री, भुवनगिरी जिले के आत्मकुरु मंडल में सत्यनारायण और अनुराधा दंपति के तीन बच्चे हैं, जो हाल ही में अनाथ हो गए। इन्होंने अपने माता-पिता को खो दिया।  

बच्चों की कोई सुध लेने वाला तक नहीं है। सत्यनारायण की एक साल पहले बीमारी से मौत हो गई थी। तब से, माँ अनुराधा मजदूरी करके अपने तीनों बच्चों की परवरिश कर रही थी। एक सप्ताह पहले ही अनुराधा की बीमारी से मौत हो गई थी। 

इन तीनों में बड़ा बेटा मनोहर अपनी बहन और छोटे भाई की किसी तरह देखभाल कर रहा है। इन तीनों की इस दुर्दशा को राजेश करणम नाम के एक शख्स ने ट्विटर पर पोस्ट किया और सोनू सूद को टैग किया। 

फिर क्या था, सोनू सूद ने इसका तुरंत जवाब देते हुए आश्वासन दिया कि तीनों बच्चे अब अनाथ नहीं हैं और वह उनकी पूरी जिम्मेदारी लेंगे।
 

Advertisement
Back to Top