देश ही नही विदेशों में भी अपने गानों से धूम मचा चुकी हैं 90's की ये सिंगर, एक गाने से बदली थी किस्मत

Know about Pop Singer and Paree Hoon Main fame Suneeta Rao - Sakshi Samachar

 सुपर हिट हुए ये दो एल्बम

एनजीओ के लिए भी निकालती हैं समय

नई दिल्ली :  भारत में पॉप सिंगरों मे एक ऐसा भी नाम है जो 1980 और 1990 के दशक में अपनी एक अलग आवाज से संगीतप्रमियों के दिलों दिमाग पर राज किया था। जी हां हम बात कर रहें परी हूं मैं की पॉप सिंगर सुनीता राव की। सुनीता राव न सिर्फ सिंगर ही नहीं बल्कि डांसर, परफार्मर, स्टेज एक्ट्रेस भी हैं।
 भारत में पॉप गानों का दौर भी लगभग 80 के दशक में शुरू हुआ था। 1989 में अपना पहला अलबम सैनोरिटा के साथ इंडियन पॉप म्युजिक की दुनिया में कदम रखने वाली सुनीता राव ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 

उनकी सबसे सुपरहिट अलबम रहा धुआं। 1991 में रिलीज हुए इस अलबम ने सुनीता राव की मानों किस्तम ही बदल दी। एचएमवी के साथ मिलकर सुनीता राव ने अलबम सैनॉरिटा बनाई थी और उस वक्त इसकी 75 हजार कॉपियां बिकी थी, जोकि एक रिकार्ड था।

सुनीता राव का जन्म 5 अप्रैल 1967 में जर्मनी में हुआ था, लेकिन उनकी पढ़ाई-लिखाई मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में हुई और इसी दौरान उन्होंने नाटक एविटा और दे आर प्लेइंग अवर सॉग एंड ग्रीज्ड लाइटनिग मे भी एक्टिंग की।

 सुपर हिट हुए ये दो एल्बम

अपने सैनोरिटा और धुआं जैसे अलबम सुपरहिट होने  के बाद राव ने ऑस्कर अवार्डी ए.आर. रहमान के साथ मिलकर केवल एक तमिल फिल्म माधम में काम किया और उसमें उन्होंने ''आदि पारु मंगथा' गाने के लिए अपनी आवाज दी थी।  उसके बाद उन्होंने 1999 में एचएमवी के साथ मिलकर संगीतकार रंजित बरूत के निर्देशन में 'तलाश'अलबम रि लीज किया।


 राव अपने गाने धहका धहका और केसरिया की बदौलत उस वक्त पॉप म्यूजिक इंड्रस्ट्री में छा गई थी। आजादी के 50 साल पूरे होने के संदर्भ में ए रीजन टू स्माइल अलबम बनाया और इसका गाना छोटी-छोटी बातें काफी हिट उसके कुछ ही समय बाद उन्होंने अलबम 'वजह मुस्कुराने की' रिलीज किया।

देश के पॉप म्यूजिट चार्ट में सबसे ऊपर सुनीता राव के सभी एल्बम

एक समय ऐसा भी देश के पॉप म्यूजिट चार्ट में सबसे ऊपर सुनीता राव के सभी एल्बम थे। उसके बाद उन्होंने लोक संगीत और आधुनिक म्यूजिक के फ्यूजन के साथ अबके बरस एल्बम बनाया, जो काफी मशहूर हुआ।

इन फिल्मों में दे चुकी अपनी आवाज
यही नहीं, सुनीता राव ने बॉलीवुड फिल्म जैसे कि गुलाम-ए-मुस्तफा, दुल्हन हम ले जाएंगे, कहीं प्यार न हो जाए के लिए अपनी आवाज दी। राव एक स्टेज परफार्मर के तौर पर भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका में भी कई शो किए। उन्होंने एनडी टीवी इमैजिन रियालटी शो धूम मचा दे में 12 परफार्मेन्सेज दिए और धूम फाइनल स्टोपर के लिए उन्हें रनरअप का अवार्ड भी मिला।
 

इसी दौरान उन्होंने  आईसीएआई और ज्ञान द्वारा शुरू किए गए प्लानेट अलर्ट के तहत कैंपेन ग्लोबल वार्मिंग के लिए एक गाना बनाकर खुद ही रिकार्ड किया, जो जून 2009 को पहली बार Big FM 92.7पर ब्रॉड कास्ट हुआ। इसके अलावा भी उन्होंने कई वीडियो और एल्बम बनाए। उन्होंने 2205 में न्यू यार्क में ऑप ब्रॉड प्ले सिड में भी  काम किया।

एनजीओ के लिए भी निकालती हैं समय
सुनीता राव ने मुंबई के सिनमेटोग्राफर जॉसन से शादी की है। वह पॉपुलेशन फर्स्ट नाम एनजीओ द्वारा संचालित लाड़ली की प्रवक्ता भी हैं। को सुनीता का चाचा बॉबी सिस्टा ने भारत में जनसंख्या नियंत्रण सहित अन्य सामाजिक आंदोलने के तहत लड़कियों को बचाने के उद्देश्य से इस एनजीओ को शुरू किया था।

सुनीता राव के कुछ प्रमुख एल्बम

सैनोरिटा (1989)
घुआं (1991),
टीवी सीरियल स्वाभिमान का टाइटिल सॉंग एक पल है जिन्दगी (1995)
तलाश (1996)
छोटी छोटी बातें - सिंगल (1997)
अब के बरस (2000)
वादा करो -सिंगल (2018)
देखा तुझे तो दिल रिमेक (2020)

Advertisement
Back to Top