बोल्ड एक्ट्रेस के रूप में जानी जाती थी तनुजा, कई बेहतरीन फिल्मों में किया काम

birthday special bollywood actress tanuja  - Sakshi Samachar

बॉलीवुड की वरिष्ठ एक्ट्रेस तनुजा का जन्मदिन

अपने जमाने में बोल्डनेस के लिए जानी जाती थी 

बॉलीवुड में जब बोल्ड एक्ट्रेस का जिक्र आता है तो तनुजा का नाम जरूर आता है जो अपने जमाने में अभिनय के साथ-साथ बोल्डनेस के लिए भी जानी जाती थी। तनुजा 70 के दशक की बेहतरीन अदाकारा रही हैं जिन्हें अभिनय विरासत में मिला था। तनुजा की मां शोभना समर्थ खुद भी एक अभिनेत्री थीं और उनके पिता प्रोड्यूसर कुमारसेन समर्थ थे। वहीं बड़ी बहन नूतन भी सफल अभिनेत्री थी। तुनजा की नानी रतनबाई और नानी की बहन नलिनी जयवंत भी अभिनेत्रियां थीं। 

तनुजा का जन्म 23 सितंबर 1943 को हुआ था। तनुजा की पहचान बोल्ड, ग्लैमरस और अपनी मर्जी से जिंदगी जीने वाली अभिनेत्री के रूप में होती है। 

तनुजा ने फिल्म 'छबीली' (1960) से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की। हालंकि बाल कलाकार के रूप में वह बहन नूतन की फिल्म हमारी बहन (1950) में नजर आ चुकी थीं। तुनजा ने हिंदी के साथ बांग्ला, गुजराती, मराठी, मलयालम और पंजाबी भाषाओं की फिल्मों में भी काम किया। 

तनुजा की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों की बात करें तो ‘आज और कल’, ‘बहारें फिर भी आएंगी’, ‘‘घराना’, ‘हाथी मेरे साथी’, ‘ज्वेल थीफ’, ‘जीयो और जीने दो’ और ‘प्रेमरोग’,  ‘दूर का राही’,  ‘मेरे जीवन साथी’ का नाम आता है। 

साल 1973 में तनुजा ने बंगाली डायरेक्टर शशधर मुखर्जी के सबसे छोटे बेटे शोमू मुखर्जी से शादी कर ली। तनुजा की दो बेटियां है काजोल और तनीषा। 

काजोल अगर एक बेहतरीन अदाकारा बन पाईं तो वो सिर्फ अपनी मां की वजह से। एक्टिंग का शौक उनको अपनी मां को देखकर ही चढ़ा था। 

यूं एक थप्पड़ ने बना दिया था करियर 

तनुजा ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म मेकर केदार शर्मा की फिल्म 'हमारी बेटी' से की थी। तनुजा को लगा था कि उनकी मां और बहन तो बड़ी स्टार हैं ही, इसलिए उन्हें एक्टिंग में कोई दिक्कत नहीं आएगी लेकिन पहली फिल्म में ही उनके साथ कुछ ऐसा हुआ जो उन्होंने कभी नहीं सोचा था।

 तनुजा को 1960 में उनकी मां शोभना समर्थ ने फिल्म 'छबीली' में लॉन्च किया था। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान तनुजा इतने नखरे दिखाती थीं कि पूरी यूनिट उनसे परेशान रहती थी। यही काम उन्होंने केदार शर्मा की फिल्म में भी किया। तनुजा सेट पर हर समय हंसी-मजाक में व्यस्त रहती थीं लेकिन केदार शर्मा को ये सब बिलकुल पसंद नहीं था।

फिल्म के एक सीन में तनुजा को रोना था लेकिन वो बार-बार हंस रही थीं। ऐसा एक बार नहीं बल्कि कई बार हुआ। तनुजा अपने काम को बिलकुल भी संजीदगी से नहीं लेती थीं। 
तनुजा ने केदार शर्मा से कहा कि आज मेरा रोने का मूड नहीं है। इसी बात से नाराज होकर केदार शर्मा ने तनुजा को जोरदार तमाचा जड़ दिया। ये देखकर पूरी टीम सन्न रह गई। इस फिल्म के हीरो राज कपूर धीरे से बाहर निकल लिए और तनुजा ने आसमान सिर पर उठा लिया। वो रोते हुए केदार शर्मा की शिकायत करने मां शोभना के पास पहुंची।

जब तनुजा ने पूरी बात बताई तो मां ने उल्टा तनुजा को एक और थप्पड़ जड़ दिया क्योंकि वो तनुजा के व्यवहार से अच्छी तरह वाकिफ थीं। अब तनुजा का रो-रोकर बुरा हाल था। शोभना, तनुजा को वापस सेट पर लेकर गईं और केदार शर्मा से कहा कि अब ये रो रही है, शूटिंग शुरू कर दीजिए।

 इसके बाद तनुजा ने परफेक्ट शॉट दिया। बता दें कि केदार शर्मा उस समय के गुस्सैल निर्देशकों में से एक माने जाते थे। वो तनुजा से पहले कई सुपरस्टार को तमाचा जड़ चुके थे। खैर तनुजा को इस थप्पड़ ने ही बुलंदियों पर पहुंचाया।

 

Advertisement
Back to Top