कोरोना : शोध में दावा, भारत में 24 मई ,और दुनिया में 31 जुलाई तक कोरोना से मिल जाएगी मुक्ति

research on corona claim it is going to be finished in india very soon  - Sakshi Samachar

कोरोना पर हुए शोध में बड़ा दावा 

24 मई तक भारत से होगा कोरोना का सफाया

31 जुलाई तक दुनिया को कोरोना से मिलेगी राहत

नई दिल्ली : दुनिया भर में महामारी बन चुके कोरोनो को लेकर सभी के दिमाग में बस एक ही सवाल है कि इस कोरोना से कब मुक्ति मिलेगी। हर किसी की जुबान पर बस एक ही सवाल है कि क्या इस बीमारी से मुक्ति मिलेगी भी या फिर अब इस यूं ही झेलते रहना है। और इसी बात को लेकर ज्यादातर लोग गूगल पर इसका जवाब तलाश रहे हैं कि कहीं से कोई तो ऐसा जवाब मिले, जिससे कुछ राहत की सांस ली जाए । आखिर इस लॉकडाउन में कब तक रहना होगा, इस का जवाब सभी को चाहिये । 

 ऐसे में दुनिया भर का ध्यान सिंगापुर युनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलॉजी ऐंड डिजाइन  ने अपनी ओर खींचा है । संस्थान ने अपने शोध में ये दावा किया है कि भारत में 24 मार्च तक कोरोना महामारी से लोगों को मुक्ति मिल जाएगी । संस्थान का कहना है कि करीब 97 प्रतिशत कोरोना का वायरस भारत से  समाप्त हो जाएगा । अगर ऐसा है तो ये देश और दुनिया भर के देशों के लिये राहत वाली खबर है ।

सिंगापुर युनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलॉजी ऐंड डिजाइन  ने कोरोना को लेकर जो शोध किया है, उसे एक गणितीय माडल के जरिये समझाने का प्रयास किया है । संस्थान ने अपने शोध में अलग-अलग देशों के बारे में जानकारी दी है। संस्थान की ओर से भारत के विषय में जो शोध प्रस्तुत किया गया है उसके मुताबिक 24 मई 2020 तक 97 फीसदी कोरोना खत्म होगा जबकि 20 जून 2020 तक यह बीमारी  99 फीसदी तक खत्म हो जाएगी । संस्थान ने यह भी कहा है कि भारत में इसे पूरी तरह खत्म होने में 31 जुलाई तक का समय लगेगा। 

शोध के मुताबिक भारत में  15 मार्च के बाद तक कोरोना वायरस की डेली ग्रोथ रेट 16.2 फीसदी था जो कि लॉकडाउन से एक दिन पहले  अपने अधिकतम स्तर 24. 0 फसदी तक पहुंच गया था । लेकिन लॉकडाउन लगाने के बाद कोरोना का ग्रोथ रेट प्रभावित हुआ और ये नीचे आया । लेकन मार्च के अंतिम और अप्रैल के शुरुआती सप्ताह में इसमें दोबारा तेजी देखने को मिली जब देश में तबलीगी मरकज के लोगों ने अपनी मनमानी से स्थितियां खराब कर दीं । अच्छी बात ये रही है कि उसके बाद से कोरोना का ग्रोथ रेट लगातार गिर रहा है। जोकि 26 अप्रैल को 7.8 फीसदी रहा।  

वहीं संस्थान ने दुनिया के दूसरे देशों के बारे में भी अपना शोध प्रस्तुत किया है । संस्थान के शोध में कहा गया है कि दुनिया भर में कोरोना का कहर 29 मई तक थम जाएगा । वहीं 15 जून तक इस बीमारी पर 99 फीसदी लगाम लग पाएगी, जबकि इस बीमारी पर पूरी तरह अंकुश लगाने में 26 नवंबर तक का समय लग सकता है । संस्थान की ओर से अमेरिका के बारे में बताया गया है कि इस देश में 26 मई तक 99 फीसदी इस बीमारी पर लगाम लग सकेगी। जबकि कोरोना महामारी के  पूरी तरह खत्म होने में 4 सितंबर तक का समय लग सकता है। 

लोगों के मन में सवाल ये है,  कि आखिर किस आधार पर संस्थान ने इतना बड़ा दावा किया है, तो संस्थान ने इसको लेकर भी तर्क पेश किये हैं,   संस्थान द्वारा तैयार किये गये एक माडल में कोरोना वायरस के Life cycle  का प्रयोग कर निष्कर्ष निकाला गया है । इसके साथ ही शोधकर्ताओं ने इस बात का भी ध्यान रखा है कि संबंधित देशों में महामारी से निपटने के लिये क्या कदम उठाए गये हैं, उन्ही आधार पर निष्कर्ष निकाले गये हैं । 

इसे भी पढ़ें :

दारुल उलूम ने रोजेदारों से कहा, कोरोना टेस्ट के लिये इन बातों पर अमल जरूरी​

अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या वास्तव में यह दावा सही साबित होता है, और दुनिया के लोगों को इस वैश्विक महामारी से राहत मिल पाएगी। फिलहाल शोध के माध्यम से जो तर्क दिये गये है उनके देखने के बात तो यही लगता है कि दावे में दम हो सकता है । फिलहाल इंतजार कीजिये और धैर्य का परिचय दीजिए ।

Advertisement
Back to Top