शनि जयंती 2020 : आज जरूर करें इन चीजों का दान और आजमाएं ये खास उपाय, शनिदेव होंगे मेहरबान

shani jayanti special tips to please lord shanidev  - Sakshi Samachar

ज्येष्ठ अमावस्या को शनि जयंती मनाई जाती है

शनि जयंती पर शनिदेव की विशेष पूजा होती है

शनि जयंती पर करें ये खास उपाय 

आज ज्येष्ठ अमावस्या है और आज ही के दिन न्याय के देवता शनिदेव की जयंती है। इस दिन पूजा, जप, तप और दान का विशेष महत्व है। माना जाता है कि इस दिन दान करने से व्यक्ति को सभी संकटों से मुक्ति मिलती है। साथ ही जीवन में सुख, शांति और समृद्धि का आगमन होता है।

वहीं आपको ये भी पता होना चाहिए कि शनि जयंती पर किन चीजों का दान करना शुभ होता है और शनिदेव प्रसन्न होते हैं। आप आज शाम तक इन चीजों का दान कर सकते हैं। 

आइये जानते हैं कि किन चीजों का दान आज करना चाहिए ....

- यह तो हम जानते ही हैं कि शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित होता है। शनि का स्वरूप श्याम है। अतः इस दिन काले रंग के कपड़े पहनना चाहिए। साथ ही काले रंग के कपड़े भी जरूरतमंदों एवं गरीबों को दान करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

-ऐसी मान्यता है कि इस दिन लोहे की वस्तु दान करनी चाहिए। इससे व्यक्ति के सभी दुःख और संकट दूर हो जाते हैं। हालांकि, निजी लाभ के लिए लोहे की चीजें न खरीदें।

-व्रती को इस दिन काली उड़द दाल का दान करना चाहिए। इसके साथ ही इस दिन उड़द दाल खाना भी शुभ होता है। इससे घर की दरिद्रता दूर होती है।

-इस दिन सरसों तेल का दान भी अति शुभ होता है। इसके लिए एक कटोरी तेल शनि देव को स्मरण और समर्पित कर दान करें। इससे शनि देव अति शीघ्र प्रसन्न होते हैं और व्रती की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।

-इस दिन छतरी, काला जूते, लोहे की बर्तन आदि दान करना अत्यंत पुण्यकारी होता है। इससे व्रती को मनचाही सफलता मिलती है।

-व्रती इस दिन दिन गरीबों को अनाज भी दान कर सकते हैं। साथ ही आप गरीबों को भोजन भी करा सकते हैं। भोजन कराना, दान देने के समतुल्य माना गया है।

-शनि देव को नीला रंग अति प्रिय है। अतः इस दिन आप काले वस्त्र के साथ ही नीले रंग के वस्त्र भी दान में दे सकते हैं। इस दिन शनि देव को अपराजिता का फूल जरूर अर्पित करनी चाहिए।

माना जाता है कि शनिदेव न्याय के देवता हैं और हर किसीको उसके कर्म के अनुसार फल प्रदान करते हैं। वे जब किसी व्यक्ति से नाराज होते हैं तो उसे कई बार मृत्यु तुल्य कष्ट भी प्रदान करते हैं। यही वजह है कि लोग शनि को प्रसन्न करने की हर संभव कोशिश करते हैं। बावजूद इसके यदि आपके घर में पैसों की तंगी बनी रहती है तो आप शनि जयंती के शुभ दिन ये कुछ खास उपाय करके अपनी समस्या से निजात पा सकते हैं। 

आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये खास उपाय ...

-काले रंग की चिड़िया खरीदकर उसे दोनों हाथों से आसमान में उड़ा दें। ऐसा करने से माना जाता है कि व्यक्ति के सारे दुख दूर होते हैं। 
-शनि जयंती के दिन 10 बादाम लेकर उन्हें हनुमान मंदिर में रख दें। बाकी बचे 5 बादाम घर वापस लाकर एक लाल कपड़े में बांधकर उसे अपने पर्स या तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से पैसों से जुड़ी समस्या दूर होती है। 
-शनि जयंती के दिन शाम को पीपल के पेड़ के नीचे तिल या सरसों के तेल का दीपक जलाएं।


-आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए हर शनिवार गेंहू पिसवाएं और गेहूं में कुछ काले चने भी मिला दें।
-यदि कुंडली में शनि दोष होने की वजह से व्यक्ति के विवाह में विलंब हो रहा हो तो उसे 250 ग्राम काली राई, नए काले कपड़े में बांधकर पीपल के पेड़ की जड़ में रखकर अपने शीघ्र विवाह की प्रार्थना शनि देव से करें। ये उपाय करने से व्यक्ति का विवाह शीघ्र होता है।

- इसके अलावा आप लॉकडाउन में फंसे असहायों की सहायता कर सकते हैं, उन्हें भोजन करा सकते हैं, जरूरत की चीजें दे सकते हैं, ऐसा करने से भी शनिदेव प्रसन्न होंगे। 
- शनि जयंती को काले कुत्ते, काली गाय को रोटी,काली चिंटी और काली चिड़िया को दाने डालने से जीवन की रुकावटें दूर होती है।

- शनि जयंती पर तेल से बने पदार्थ भिखारी को खिलाने से शनि देव प्रसन्न होते हैं।

- शनि जयंती पर शुभ योग/शुभ चौघड़िया में शाम के वक्त अपनी लंबाई के बराबर लाल रेशमी सूत नाप लें। फिर एक पत्ता बरगद का तोड़ें। उसे स्वच्छ जल से धोकर पोंछ लें। तब पत्ते पर अपनी कामना रूपी नापा हुआ लाल रेशमी सूत लपेट दें और पत्ते को बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस प्रयोग से सभी प्रकार की बाधाएं दूर होती हैं, कामनाओं की पूर्ति होती है सबसे महत्वपूर्ण आपका भाग्य चमकने लगेगा।
-शनि जयंती की रात में रक्त चंदन से अनार की कलम से 'ॐ ह्वीं' को भोजपत्र पर लिख कर बाद में नित्य पूजा करने से यश,धन, वैभव,विद्या, बुद्धि की प्राप्ति होती है।

इसे भी पढ़ें : 

शनि जयंती पर यूं पूरे विधि-विधान से करेंगे पूजा तो प्रसन्न होंगे शनिदेव, जानें महत्व, मुहूर्त व पूजा-विधि

पति की लंबी आयु के लिए सुहागिनें रखती है वट-सावित्री व्रत, जानें महत्व, पूजा-विधि व मुहूर्त

Advertisement
Back to Top