शनिवार विशेष : कुछ ऐसे करें शनिदेव की पूजा, इन सावधानियों पर ध्यान दें

saturday shanidev puja tips  - Sakshi Samachar

शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित है

शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है

शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित है और इस दिन उनकी विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। वहीं जो लोग शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित होते हैं, वे भी शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार को खास उपाय करते हैं।

शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है और कहते हैं कि वे जातक को उसके कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं।

तो आइये यहां जानते हैं कि आखिर शनि आपके कामों में रुकावट क्यों डालते हैं, क्या है इसकी वजह ...

- आप रात में देर से सोते हैं और सुबह देर से जागते हैं

- आप किसी मजदूर को या जरूरतमंद को सताने में पीछे नहीं हटते

- अपने माता पिता का आदर नहीं करते हैं

- किसी भी इंसान का पैसा हड़पने में देर नहीं लगाते

- अमावस्या के दिन भी मांस-मदिरा का सेवन करते हैं

- अपने घर के पश्चिम दिशा को गंदा रखते हैं

- आपके घर की पश्चिम दिशा में पानी का टैंक बना हुआ है

- यदि आप का मुख्य द्वार पश्चिम दिशा का है और उसके आसपास आप गंदगी रखते हैं

- असहाय लोगों का आप मजाक उड़ाते हैं

- घर के नौकर /नौकरानी का समय पर आप पैसा नहीं देते हैं

अगर आप यह सब करते हैं तो जाहिर सी बात है कि शनिदेव आपको परेशान करेंगे और आपका कोई काम बनने नहीं देंगे।

हम यह तो जानते हैं कि शनिवार को शनिदेव की पूजा की जाती है पर शनि पूजा में कुछ सावधानियां भी बरतनी होती है वरना इस पूजा का फल नहीं मिलता।

तो आइये यहां जानते हैं कि शनि की पूजा पाठ करते समय क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए ...

- शनिदेव की पूजा हमेशा सूर्योदय से पहले करें या सूर्यास्त के बाद करें

- शनिदेव की पूजा में हमेशा साफ-सुथरे कपड़े पहनकर और नहा धोकर ही करें

- शनिदेव की पूजा पाठ में हमेशा सरसों के तेल या तिल के तेल का प्रयोग करें

- शनिदेव की पूजा हमेशा शांत मन से करें

- पूजा में काले या नीले रंग के आसन का इस्तेमाल करें

- हो सके तो शनि की पूजा पीपल के पेड़ के नीचे करें

नौकरी /व्यापार के लिए खास उपाय ...

- ॐ शं शनिश्चराये नमः मंत्र का शाम को सूर्यास्त के बाद 3 माला रुद्राक्ष की माला से जाप करें ऐसा लगातार 40 दिन तक करें

बीमारी से पीड़ित हैं तो करें ये उपाय ...

- शनिवार के दिन सूर्य उदय होने से पहले उठे नहा-धोकर साफ कपड़े पहनें

-पीपल के पेड़ के नीचे तिल के तेल का दीया जरूर जलायें

- बीमार लोगों को दवा वस्त्र भोजन का दान करें

- रोजाना एक अच्छा काम करने की आदत डालें

शनिवार को करें शनिदेव के इन 10 नामों का जाप ...

- कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, कृष्ण, रौद्रान्तक, अंतक, शौरी, शनेश्चर, यम, पिप्पलाद

-शनि देव के इन 10 नामों को सूर्य उदय होने से पहले पढ़ें

- काले या नीले आसन पर बैठकर तिल के तेल का दिया जलाएं

- पश्चिम दिशा की तरफ मुंह करें

- अब लगातार 11 बार इन नामों का पाठ करें ऐसा सुबह और शाम लगातार 27 दिन करें

-अपनी समस्या के लिए शनिदेव से प्रार्थना करें।

इसे भी पढ़ें : 

अपनी राशि के अनुसार देंगे पेड़-पौधों को पानी तो हो जाएंगे मालामाल, जानें आपको किस पेड़ से होगा लाभ​

जानें कैसे होते हैं अप्रैल में जन्मे लोग, क्या है वो विशेषताएं जो इन्हें बनाती है खास​

Advertisement
Back to Top