सोमवार से शुरू होगा नौतपा, सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में आने से बढ़ेगी गर्मी, इन दिनों करें ये काम

nautapa starts from today do this things to feel cool  - Sakshi Samachar

25 मई, सोमवार से शुरू हो रहा है नौतपा

इन दिनों बढ़ जाती है गर्मी 

किये जाते हैं कुछ खास काम 

गर्मी के दिन तो चल ही रहे हैं और सूर्य की किरणें भी उग्र रूप धारण किए है पर नौतपा में गर्मी और बढ़ जाती है। वैसे नौतपा को भीषण गर्मी के लिए ही जाना जाता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार हर साल ज्येष्ठ महीने में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में आ जाता है जिससे गर्मी बढ़ने लगती है। इस बार ज्येष्ठ महीने के शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि यानी 25 मई को सूर्य कृतिका से रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा और 8 जून तक इसी नक्षत्र में रहेगा। सूर्य के नक्षत्र बदलते ही नौतपा शुरू हो जाएगा यानी 9 दिनों तक तेज गर्मी रहेगी। इसकी वजह यह है कि इस दौरान सूर्य की लंबवत किरणें धरती पर पड़ती हैं लेकिन इस बार शुक्र तारा अस्त होने से इसका प्रभाव कुछ कम रहेगा।

ग्रह-नक्षत्रों के अनुसार ये है नौतपा  

25 मई को सुबह करीब 8.10 पर सूर्यदेव रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में होकर वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा होता है। इस नक्षत्र में सूर्य करीब 15 दिनों तक रहेगा लेकिन शुरुआती 9 दिनों में गर्मी बहुत बढ़ जाती है। इसलिए इन 9 दिनों के समय को ही नौतपा कहा जाता है। ये समय 25 मई से 2 जून तक रहेगा। इसके अलावा ज्येष्ठ महीने के शुक्लपक्ष में चंद्रमा जब आर्द्रा से स्वाति तक 10 नक्षत्रों में रहता हो तो नौतपा होता है। रोहिणी के दौरान बारिश हो जाती है तो इसे रोहिणी नक्षत्र का गलना भी कहा जाता है।

शुक्र तारा के अस्त होने से तापमान कम रहने के आसार

इस बार नौतपा के दौरान 31 मई को शुक्र ग्रह वक्री होकर अपनी ही राशि में अस्त हो जाएगा और सूर्य के साथ रहेगा। रोहिणी नक्षत्र का का स्वामी ग्रह चंद्रमा है। सूर्य के साथ शुक्र भी वृषभ राशि में रहेगा। शुक्र रस प्रधान ग्रह है, इसलिए वह गर्मी से राहत भी दिलाएगा। इसलिए देश के कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी और कुछ जगहों पर तेज हवा और आंधी-तूफान के साथ बारीश होने की संभावना ज्यादा है। नौतपा के आखिरी दो दिन तेज हवा-आंधी चलने व बारिश होने के भी योग बन रहे हैं। वराहमिहिर के बृहत्संहिता ग्रंथ में ने बताया है कि ग्रहों के अस्त होने से मौसम में बदलाव होता है।


इन दिनों करें ये काम 

- इन दिनों महिलाएं हाथ-पैरों में मेंहदी लगाती हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि मेंहदी की तासीर ठंडी होती है। मेंहदी लगाने से गर्मी से राहत मिलती है। नौतपा में सूर्य की गर्मी बहुत अधिक बढ़ जाती है, इसलिए प्राचीन समय से ही इन दिनों में मेंहदी लगाने की परंपरा है।
-धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दान का बहुत अधिक महत्व होता है। दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। धार्मिक शास्त्रों में इस बात का वर्णन है कि जल का दान करना शुभ होता है। नौतपा में गर्मी बढ़ जाती है जिस वजह से पानी की प्यास भी अधिक लगती है तो इन दिनों खूब पानी पीयें और लोगों को पानी पिलाए। अगर आपसे कोई पानी मांगें तो उसको पानी अवश्य पिलाएं। ऐसा करने से भगवान का आशीर्वाद मिलता है।

-नौतपा में गर्मी के बढ़ जाने से शरीर में पानी की कमी का खतरा भी रहता है। इन दिनों ठंडक देनी वाली चीजों जैसे दही, नारियल पानी आदि का अधिक से अधिक सेवन करें। अगर संभव हो तो जरूरतमद लोगों को भी इन चीजों का दान करें।

इसे भी पढ़ें : 

पार्टनर को इस दिन करेंगे प्रपोज तो बन जाएगी बात, आगे बढ़ेगी प्यार की गाड़ी

शनिवार विशेष : जानें क्यों और कैसे हुई शनिदेव की दृष्टि अनिष्टकारी, क्या है इसका रहस्य​

Advertisement
Back to Top