शारदीय नवरात्रि 2020 : मां दुर्गा क्यों सदैव धारण करती है शस्त्र, आखिर क्या है इसका महत्व

know why mata durga keeps weapons with her what is it's importance - Sakshi Samachar

शक्ति का प्रतीक हे मां दुर्गा

भक्तों की रक्षा करती है 

मां दुर्गा का पावन पर्व शारदीय नवरात्र चल रहा है।  शारदीय नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूरे विधि-विधान से पूजा की जाती है। वहीं शास्त्रों में तो मां दुर्गा को शक्ति का प्रतीक माना गया है। नौ दिनों तक उपवास और पूजा से शक्ति की साधना की जाती है।

मां दुर्गा दुष्ट दानवों का विनाश करती हैं जिसके लिए वे सदैव अस्त्र-शस्त्र धारण करती हैं। मां दुर्गा के अलग-अलग शस्त्रों को धारण करने के पीछे संदेश छिपे हुए होते हैं। 

आइए आज जानते हैं मां दुर्गा के अलग-अलग शस्त्रों को धारण करने के पीछे क्या संदेश छिपे हैं ...

- दुर्गा मां के कई हाथ होते हैं जिसका अर्थ है कि भगवान भी कर्म करते हैं। एक हाथ से नहीं बल्कि कई तरीकों से देव, दानव और मनुष्यों को उनके कर्मों के हिसाब से उनको फल देती हैं।

- मां के हाथों में फूल भी सुशोभित रहता है। मां फूल से भी दुष्टों का विनाश करने की शक्ति रखती हैं। इसलिए देवी मां अपने हाथों में फूल लिए हुए है।

-शंख का उपयोग मां ज्ञान प्रसारण के लिए करती है। मां के पास एक से अधिक उपाय है।

- मां के स्वरूप में सुदर्शन चक्र भी शुसोभित रहता है। जो इस बात का प्रतीक होता है कि इस संसार में परिवर्तन के लिए एक ही युक्ति से काम नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें : 

शारदीय नवरात्रि 2020: जानें कब, क्यों और कैसे होती है नवपत्रिका पूजा, क्या है इसका महत्व

- मां जितनी शक्तिशाली है उतनी ही दयावान भी है वह दानवों को भी अपने शस्त्रों के माध्यम से शुद्ध कर देना चाहती है, उन्हें मुक्त करना चाहती है। इसलिए भी मां इतने शस्त्र और अस्त्र धारण किए हुए हैं।

Advertisement
Back to Top