रंग पंचमी के दिन पूजा के बाद करेंगे ये खास उपाय तो चमकेगा भाग्य

Follow This Special Tips on Rang panchami  - Sakshi Samachar

रंग पंचमी को भी रंग खेला जाता है

रंग पंचमी को खास उपाय करने से होता है लाभ

चैत्रमास के कृष्णपक्ष की पंचमी को रंग पंचमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भी होली की तरह ही रंग खेला जाता है और रंग पंचमी देवी-देवताओं को समर्पित है। यह दिन पूरी तरह से सात्विक पूजा आराधना का दिन होता है। 

रंग पंचमी को धनदायक माना जाता है और इस दिन पूरे विधि-विधान से पूजा करने के बाद राधा-कृष्ण को रंग लगाया जाता है। मान्यता है कि रंग पंचमी पर पवित्र मन से पूजा पाठ करने से देवी-देवता स्वयं अपने भक्तों को आशीर्वाद देने आते हैं।

साथ ही यह भी माना जाता है कि कुंडली के बड़े से बड़े दोष को इस दिन पूजा-पाठ से काफी हद तक कम किया जा सकता है। इस दिन कुछ खास उपाय करने से शुभ फल भी मिल सकते है। 

तो आइये यहां जानते हैं उन खास उपायों के बारे में जो इस दिन किये जा सकते हैं ....

-रंग पंचमी के दिन जल में गंगाजल डालकर स्नान करेंगे तो शुभ फल मिलेगा। 

-मां लक्ष्मी को गुलाब के फूल चढ़ाएं।

- रुई की दो बाती वाले घी का दीपक जलाएं।

- गुलाब की अगरबत्ती जलाएं। 

- सफ़ेद मिठाई और सेब चढ़ाएं।  

नौकरी पाने के लिए रंग पंचमी पर ये दिव्य उपाय करें-

- रंगपंचमी के दिन सुबह के समय जल्दी उठकर स्नान करके गुलाबी रंग के कपड़े पहनें।

- शंख में जल भरकर उसमें दो चुटकी रोली और हल्दी डालें।

- ॐ घृणि सूर्याय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें।

- इसके बाद कुशा के आसन पर खड़े होकर भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य दें।  

- भगवान सूर्य नारायण की तीन प्रदक्षिणा करें और गायत्री मंत्र का 27 बार पाठ करें।

पारिवारिक कलह क्लेश को दूर करने के लिए रंग पंचमी पर ये उपाय करें-

- रंगपंचमी के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठें और साफ वस्त्र पहनें।

- एक स्टील के लोटे में जल गुड़ और गंगाजल मिलाएं।

- ॐ श्री पितृदेवताय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें और यह जल पीपल के वृक्ष की जड़ में अर्पण कर दें।

- थोड़ा सा जल बचाकर घर ले आएं और अपने घर में छिड़काव करें।

- ऐसा करने से पारिवारिक कलह क्लेश बहुत जल्दी खत्म होंगे।

धन के लाभ के लिए रंग पंचमी पर ये उपाय करें-

-  रंगपंचमी के दिन कमल के फूल पर बैठे लक्ष्मी नारायण के चित्र को घर के उत्तर दिशा में स्थापित करें और लोटे में जल भरकर रखें।  
- गाय के घी का दीपक जलाकर लाल गुलाब के फूल लक्ष्मी नारायण जी को अर्पण करें।

- अब एक आसन पर बैठकर ॐ श्रीं श्रीये नमः मंत्र का तीन माला जाप करें।

- लक्ष्मी नारायण जी को गुड़ और मिश्री का भोग लगाएं।

इसे भी पढ़ें : 

जानें आखिर क्यों मनाई जाती है रंगपंचमी, कबसे और कैसे शुरू हुई ये परंपरा

सूर्य देव इस दिन करेंगे राशि परिवर्तन, इन पांच राशियों की चमकेगी किस्मत​

- जाप के बाद पूजा में रखा हुआ जल सारे घर में छिड़क दें।

- आपके घर में धन की बरकत कुछ समय बाद जरूर दिखाई देगी।

Advertisement
Back to Top