कोरोना का असर अब शादियों पर, दिसंबर तक टल सकते हैं अप्रैल-मई के विवाह

Corona effect on marriage muhurat - Sakshi Samachar

कोरोना वायरस की वजह से टल रही है शादियां

जून के बाद नहीं है वैवाहिक मुहूर्त

नवंबर-दिसंबर में भी कम मुहूर्त है

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते कई शादियां टल गई। भीड़भाड़ जुटाने की मनाही के चलते कई आयोजन टालने पड़ गए हैं। जी हां, कोरोना के शोर में अब शहनाई की धुन भी जैसे मंद होने वाली है।  वैसे तो अभी खरमास चल रहा है पर खरमास के बाद 14 अप्रैल से वैवाहिक मुहूर्त का शुभारंभ हो रहा है। लोगों ने शादियों की तिथि भी निश्चित की हैं, लेकिन बैंड बाजा बारात और अपनों के स्वागत में संकट की आशंका से लोग शादियां टाल रहे है। हालांकि दूसरी बड़ी समस्या है कि जून के बाद सीधे नवंबर और दिसंबर में मुहूर्त है, वे भी नाममात्र।

कई शादियां अप्रैल व मई में थी पर लॉकडाउन के बाद कई लोगों ने शादियां टालने का निर्णय लिया है क्योंकि मार्च के बाद कोरोना का चौथा चरण शुरू होगा। जबकि 16 अप्रैल से ही शादियां होनी है। जिनके परिवार में मई-जून में शादी है वे भी धीमी गति से तैयारी कर रहे हैं और कई तो सोच रहे हैं कि शादियों को टाल दिया जाए। वहीं जिन लोगों ने शादियां टाल दी है वे अब वे नये मुहूर्त को लेकर माथापच्ची कर रहे हैं।  


 
पंचांगों के अनुसार 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया सहित कुल सात मुहूर्त है। मई में सर्वाधिक और जून में 11 मुहूर्त हैं। एक जुलाई को देवशयनी एकादशी से चार माह के लिए मांगलिक कार्य वर्जित हो जाएंगे। 18 सितंबर से 16 अक्टूबर तक अधिकमास होगा। 25 नवंबर को देवोत्थानी एकादशी पर देव जागृत होंगे। नवंबर में दो और दिसंबर में चार वैवाहिक मुहूर्त है। 13 दिसंबर को वैवाहिक मुहूर्त है उसके बाद गुरु और शुक्र अस्त होने से मांगलिक कार्यक्रम नहीं होंगे।

फिर अगले साल मार्च तक ढाई माह मांगलिक कार्यों का मुहूर्त नहीं होगा। अगले वर्ष संवत 2078 में वैवाहिक मुहूर्त होगा। जिन परिवार में शादियां हैं , उनकी चिंता बढ़ गई है। ज्योतिषियों की मानें तो 2020 में कुल 51 मुहूर्त है जिसमें अप्रैल-मई पर कोरोना का दुष्प्रभाव पड़ता दिख रहा है।

दूसरी ओर देखा जाए तो शुभ आयोजनों पर पड़ी कोरोना की मार ने पंडितों समेत बैंड-बाजा वालों, फोटोग्राफर, डीजे व टेंट व्यवसायियों के कामकाज और बुकिंग भी चौपट कर दी है। शादी-बारातों के साथ बड़े स्तर का रोजगार जुड़ा हुआ है। बारात टल जाने से कैटरर भी खाली हो गए हैं। उनके पास कोई काम ही नहीं है। 

वहीं जिनके यहां शादी है, वर-वधू पक्ष दोनों ही परेशान है कि आखिर ऐसे में शादी कैसे हो। कोरोना का असर बहुत गहरा है और इसने प्रत्यक्ष व परोक्ष कई लोगों का नुकसान किया है और कर रहा है।

इसे भी पढ़ें : 

आज गुरु करेंगे राशि परिवर्तन, इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, बाकी लोग संभलकर रहें

चैत्र नवरात्रि 2020 : इन दिनों शुक्र के साथ ही हो रहा गुरु का भी राशि परिवर्तन, जानें राशि अनुसार क्या करें और क्या नहीं​

Advertisement
Back to Top