हर दिन पूजा के बाद जरूर करें ये काम, मिलेगा शुभ फल

After puja Do this thing to please god  - Sakshi Samachar

हर दिन पूजा के बाद करें ये काम 

करेंगे ये काम तो प्रसन्न होंगे भगवान 

हर कोई चाहता है कि उसके जीवन में खुशियां ही खुशियां हो, गम का साया भी उस पर न पड़े और इसके लिए वह हर दिन की शुरुआत भगवान की पूजा के साथ ही करता है। एक ओर जहां पूजा करने से भगवान की कृपा प्राप्त होती है वहीं इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी होता है। 

हम हर दिन पूरे विधि-विधान से पूजा तो करते हैं, नियमों का पालन भी करते हैं पर फिर भी कभी-कभी जाने-अनजाने पूजा में हमसे गलतियां भी हो जाती है जिसके बारे में हमें पता भी नहीं होता। तो ऐसे में क्या किया जाए और कैसे अपनी गलतियों को सुधारा जाए।    

हिंदू धर्म में इन गलतियों को सुधारने के उपाय भी बताए गए हैं। जी हां, पूजा के बाद अगर पूरे मन से भगवान से क्षमा मांग ली जाए तो वे हमारी भूल-चूक पर ध्यान नहीं देते और हमें अपनी पूजा का पूरा फल मिल जाता है। 

पूजा के बाद भगवान से अपनी गलतियों के लिए क्षमा मांगे और इस मंत्र का जाप करें ....

आवाहनं न जानामि न जानामि विसर्जनम्।
पूजां चैव न जानामि क्षमस्व परमेश्वर॥
मंत्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं जनार्दन।
यत्पूजितं मया देव! परिपूर्ण तदस्तु मे॥

इस मंत्र का अर्थ है .....

भगवान मैं आपको बुलाना भी नहीं जानता और विदा करना भी नहीं। मुझे पूजा-पाठ करना भी नहीं आता। जाने-अनजाने मुझसे जो भी गलतियां हुई हैं उनके लिए मुझे क्षमा करें। मुझे न पूजा करने की प्रक्रिया पता है और न ही मुझे मंत्र याद है। पर आप सह्रदय है तो आप मेरी पूजा स्वीकार करें। 

अगर आप मंत्र जाप नहीं कर सकते हैं तो बिना मंत्र जाप के भी क्षमा याचना कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : 

मंगलवार को यूं करेंगे बजरंगबली की पूजा तो बरसेगी पवनपुत्र की कृपा

सूर्यदेव की कृपा पाने के लिए रविवार को यूं दें अर्घ्य, करें इन नियमों का पालन

क्षमा मांगने से जहां हमारे अंदर अंहकार की भावना नहीं आती है। वहीं भगवान भी हमारा विनय भाव देखकर प्रसन्न होते हैं। दूसरी ओर देखा जाए तो भगवान से क्षमा मांगने की यह परंपरा हमें यह संदेश देती है कि व्यक्ति को अपनी गलतियों के लिए तुरंत क्षमा मांग लेनी चाहिए। साथ ही कभी भी क्षमा मांगने में किसी तरह की कोई गलती नहीं करनी चाहिए। 

Advertisement
Back to Top