Coronavirus : बाहर से आए लोगों की लिस्ट बनाने में जुटे व्यक्ति की भाभी को फौजी ने मारी गोली

Woman Shot Dead By Army Jawan Amid Covid-19 Lockdown in Uttar Pradesh - Sakshi Samachar

रोजगार सेवक ने जिला प्रशासन को सौंपी थी लिस्ट

लखनऊ : कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए देशभर में घोषित लॉकडाउन के दौरान दूसरे राज्यों से पलायन कर पहुंचे लोगों की सूचना जिला प्रशासन को देने को लेकर हुए विवाद के दौरान हुई फायरिंग में गोली लगने से एक महिला की मौत हो गई।

यह घटना राज्य के मैनपुरी जिल के अल्लीपुर गांव की है। गांव के रोजगार सेवक विनय यादव ने दो दिन पहले अलग-अलग शहरों से गांव पहुंचे लोगों की एक लिस्ट बनाकर जिला प्रशासन को सौंपी थी। इसके बाद पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के लोगों ने अल्लीपुर पहुंच कर उनसबका का मेडिकल चेकअप किया।

इसी क्रम में बुधवार को पलायन कर पहुंचे कुछ लोग विनय यादव के घर गए और जिला प्रशासन को सौंपी गई सूची में उनका नाम शामिल करने को लेकर विनय यादव के साथ विवाद करने लगे। देखते ही देखते विवाद इस हद तक बढ़ गया कि दूसरे पक्ष ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें विनय यादव की भाभी की गोली लगने से मौत हो गई। 

गोलीबारी और हत्या के सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लाकर उसे पोस्टमार्टम के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल भेज दिया गया। बताया जाता है कि गांव अल्लीपुर से जुड़े फौजी शैलेंद्र छुट्टी पर आए हुए थे। इस बीच, शैलेंद्र को पता चला कि रोजगार सेवक ने जिला प्रशासन को जिन लोगों की सूची सौंपी है उसमें उनका और उनके परिवार के नाम शामिल है।

इसे भी पढ़ें : 

इटावा जेल में संघर्ष, 1 की मौत, डिप्टी जेलर समेत 20 से ज्यादा घायल

इसी बात को लेकर आरोपी शैलेंद्र और रोजगार सेवक के बीच वाद-विवाद हुआ। इसके तुरंत बाद फौजी शैलेंद्र यादव अपने घर गया और अपना हाथियर लेकर वापस रोजगार सेवक विनय यादव के घर पहुंचने के साथ ही फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें विनय यादव की भाभी की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज करने के साथ ही फौजी शैलेंद्र को अरेस्ट कर लिया है। 
 

Advertisement
Back to Top