विकास दुबे मामले में नया खुलासा, जांच में सामने आया चौंकाने वाला 'सच' !

   vikas dubey surprising facts revealed in investigations no jewelry and cash recovered from house  - Sakshi Samachar

विकास दुबे मामले में चौंकाने वाला खुलासा

विकास दुबे घर में नहीं रखता था एक भी रुपया

लखनऊ : दहशतगर्द विकास दुबे के मामले में हुई जांच में हर रोज कुछ न कुछ ऐसी बात सामने आ रही है, जिन्हे जानकर हैरानी हो रही है। ताजा मामले में कुछ ऐसी जानकारियां सामने आईं है जो जहां लोगों को हैरान कर रहीं हैं तो वहीं कई सवाल भी खड़े कर रही हैं।  

मिली जानकारी के मुताबिक विकास दुबे जो अवैध तरीके से करोड़ों की संपत्ति जुटाता था, वो अपने घर में एक रुपया भी नहीं रखता था। पुलिस एनकाउंटर के बाद जब उसके मकान को ढहा दिया गया। उसके बाद पुलिस को उसके घर से एक रुपया भी बरामद नहीं हुआ। ऐसा पुलिस की तलाशी फर्द में दर्ज किया गया है। 

गौरतलब है कि बिकरू गांव में दो जुलाई की रात बदमाश विकास दुबे ने आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी। दूसरे दिन पुलिस ने विकास के मकान के तीन कमरों को छोड़ कर बाकी हिस्से को जेसीबी से गिरा दिया। तलाशी फर्द में पुलिस ने जो जानकारी दी है उसके मुताबिक वहां रखी अलमारियों और उसके लॉकर के ताले टूटे हुए मिले थे। इतना ही नहीं पुलिस को विकास के छह करीबियों के मकानों में भी अलमारियों के ताले टूटे मिले। 

ऐसे में ये बात तो साफ है कि ताले तोड़ कर वहां रखी सभी कीमती वस्तुएं निकाल ली गयीं । लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर ऐसा किसने किया। वारदात के बाद उस जगह पर पुलिस के अलावा कोई भी नहीं गया था। वहीं स्थानीय ग्रामीणों की भूमिका भी सवालों के घेरे में आती है। 

मामले में इतना तो साफ है कि कुछ ऐसा है जो अभी तक सामने नहीं आया, क्या वास्तव में विकास यादव अपने घर में बड़ी रकम नहीं रखता था । जबकि बताया जाता है कि लॉकडाउन के दौरान विकास यादव गांव के गरीबों को अनाज और भोजन बंटवाता था। वहीं कोई ग्रामीण अगर विकास यादव से सहायता मांगता था तो वह उन्हे मदद जरूर देता था। 

ऐसे में इस बात का जवाब तलाशना अभी बाकी है कि अगर विकास दुबे अपने घर से इस तरह की गतिविधियां कर रहा था तो जेवर और नकदी पुलिस की तलाशी में क्यों नहीं मिले ? 
 

Advertisement
Back to Top