तमिलनाडु में दो नीट परीक्षार्थियों ने की आत्महत्या, विपक्षी दलों ने बताया मोदी सरकार जिम्मेदार

Two NEET 2020 Aspirants Commit suicide in Tamilnadu  - Sakshi Samachar

मदुरै/धर्मपुरी (तमिलनाडु) :  तमिलनाडु में शनिवार को दो नीट परीक्षार्थियों ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। इसके बाद राज्य में द्रमुक के नेतृत्व में विपक्षी राजनीतिक दलों ने राष्ट्रीय प्रवेश एवं पात्रता परीक्षा (नीट) के मुद्दे पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया। सत्ताधारी दल अन्ना द्रमुक भी परीक्षा के विरोध में उतर आया है। मदुरै में 19 वर्षीय एक किशोरी और धर्मपुरी में 20 वर्षीय एक युवक अपने घरों में लटके हुए मिले। इस घटना से राज्य के लोग सदमे में हैं जहां पिछले तीन साल में इस प्रकार की कई घटनाएं सामने आई हैं। 

मदुरै और धर्मपुरी के जिला और पुलिस अधिकारियों के अनुसार शनिवार को जोतिश्री दुर्गा और एम आदित्य ने कथित तौर पर लटक कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने कहा कि दुर्गा उप निरीक्षक की बेटी थी और उसने कथित तौर पर सुसाइड नोट छोड़ा था जिसमें लिखा है वह नीट में खराब प्रदर्शन के डर से आत्महत्या कर रही है। वहीं दूसरी तरफ, आदित्य ने पिछले साल नीट परीक्षा दी थी लेकिन उत्तीर्ण नहीं कर पाया था और तभी से वह तैयारी में लगा था।

 धर्मपुरी के जिलाधिकारी एस मलारविझी ने प्रारंभिक जांच का हवाला देते हुए कहा कि आदित्य अपने घर में शाम को लटका हुआ पाया गया। आदित्य के माता पिता नीट परीक्षा केंद्र देखने सलेम गए हुए जहां रविवार को उनके बेटे को परीक्षा देनी थी। मलारविझी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “लेकिन जब वह घर लौटे तो उन्होंने अपने बेटे को पंखे से लटका हुआ पाया। उन्होंने कहा कि आदित्य पढ़ने में अच्छा था।”

इसे भी पढ़ें : 

JEE और NEET स्थगित करने की मांग को लेकर कांग्रेस का धरना प्रदर्शन, परीक्षाओं को लेकर नहीं स्पष्टता

 इससे कुछ दिन पहले अरियालुर में एक अन्य परीक्षार्थी ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। दुर्गा की मौत पर तमिलनाडु की राजनीतिक पार्टियों की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई जिन्होंने नीट परीक्षा आयोजित करने का विरोध किया। मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने घटना पर शोक प्रकट किया। द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने दुख जताते हुए कहा कि नीट “कोई परीक्षा ही नहीं है।”
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top