मणिपुर के दो छात्रो को सुपरमार्केट में प्रवेश नहीं देने के मामले में तीन गिरफ्तार

Three arrested for not allowing two Manipur students  - Sakshi Samachar

बार-बार मना करने की वजह पूछा

आईपीसी के तहत मामला दर्ज

नस्लभेद स्वीकार नहीं

हैदराबाद : कोरोना वायरस के संकट के समय कथित तौर पर नस्लभेद का मामला सामने आया है। यहां एक सुपरमार्केट में मणिपुर के दो छात्रों को कथित तौर पर प्रवेश नही करने दिया गया। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि निजी सुरक्षा गार्ड समेत इस दुकान के प्रबंधक को इन दोनों को प्रवेश नहीं देने के आरोप में हिरासत में लिया गया।

पुलिस ने बताया कि एक वीडियो में एक सुरक्षा गार्ड कथित पर यह कहते हुए दिख रहा है कि उनके लिए प्रवेश नहीं है जिस पर ये दोनो मना करने के पीछे का बार-बार कारण पूछ रहे हैं। यह वीडियो वायरल हो गया है। उन्होंने बताया कि यह घटना बुधवार की है जब दोनों 24 वर्षीय बीटेक के छात्र सब्जियां और किराने का सामान खरीदने वहां गये थे।

इसकी जांच कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय युवा एवं खेल मामलों के मंत्री किरेन रिजीजु ने ट्वीट किया, "यह घटना कब हुई मुझे जानकारी दें।'' वहीं इस मामले को गंभीरता से लेते हुए तेलंगाना के सूचना प्रोद्योगिकी एवं उद्योग मंत्री केटीआर ने इसे पूरी तरह अनावश्यक और कतई बर्दाश्त के काबिल नहीं बताया।

इसे भी पढ़ें :

पार्षद ने की कोरोना वारियर्स से बदसलूकी, पुलिस ने किया अरेस्ट

बाप नहीं मान रहा था पीएम मोदी की बात, पुलिस के पास पहुंच गया बेटा

केटीआर ने कहा कि किसी भी रूप में नस्लभेद स्वीकार नहीं किया जाएगा और इससे कड़ाई से निपटना जाएगा। उन्होंने तेलंगाना के डीजी से इस तरह के मामलों में कड़ाई से निपटने का आग्रह किया है।
 

Advertisement
Back to Top