श्रावणी आत्महत्या मामला, डीसीपी ने किया खुलासा

Sravani suicide case disclosures in hyderabad - Sakshi Samachar

वर्ष 2015 में उसकी साईकृष्णा रेड्डी से पहचान

वर्ष 2019 में श्रावणी की देवराज से मुलाकात

हैदराबाद : टीवी कलाकार श्रावणी की आत्महत्या के मामले में डीसीपी ने खुलासा किया है। उन्होंने आरोपी देवराज और साई रेड्डी को गिरफ्तार कर मेडिकल टेस्ट के लिए उस्मानिया अस्पताल भेज दिया। तत्पश्चात उन्होंने वेस्ट जोन डीसीपी कार्यालय में आरोपियों को मीडिया के सामने प्रस्तुत किया। उन्होंने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि श्रावणी वर्ष 2012 में टीवी कलाकार के तौर पर काम करने की मंशा से हैदराबाद आई।

वर्ष 2015 में उसकी साईकृष्णा रेड्डी से पहचान हुई। उसके बाद उसकी फिल्म निर्माता अशोक रेड्डी से पहचान हुई। वर्ष 2019 में श्रावणी की देवराज से मुलाकात हुई। इन सभी ने श्रावणी के साथ शादी करने के बात करते हुए उसे प्रताड़ित करते थे। इस बीच साई रेड्डी ने श्रावणी को देवराज से दूर रहने को कहता। इस बात पर श्रावणी के साथ साई झगड़ा करते रहता।

देवराज से नजदीकियां बढ़ाते देख श्रावणी के माता-पिता और साई उसे धमकाते रहे। साई रेड्डी ने कई बार उसके पास मौजूद फोटो दिखाकर उसे धमकाता रहा। इस बीच देवराज ने भी शादी की बात कहते हुए श्रावणी को धोखा दिया। श्रावणी ने इससे पहले देवराज के खिलाफ शिकायत की थी।

श्रावणी का अन्य के साथ संबंध होने बात जानने पर उससे दूरी बनाए रहता था। इन तीनों की प्रताड़ना से तंग श्रावणी ने आत्महत्या कर ली। मामले में ए-1 साईकृष्णा रेड्डी, ए-2 अशोक रेड्डी और ए-3 देवराज रेड्डी को आरोपी बनाया गया। आपको बता दें कि देवराज रेड्डी और साईकृष्णा रेड्डी गिरफ्तार हुए लेकिन अशोक रेड्डी फरार हैं। 
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top