मुंबई पुलिस के हत्थे चढ़ी हैदराबाद की मोस्ट वांटेड सिंगर, पलक झपकते ही देती थी घटना को अंजाम

singer munmun hussain involved in three theft cases in hyderabad - Sakshi Samachar

सैदाबाद और आबिड्स पुलिस थानों में दर्ज हैं तीन मामले

सिंगर मुनमुन ने कर्नाटक, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में लगातार की चोरियां

हैदराबाद : मोस्ट वांटेड शातिर महिला चोर को मुंबई की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने हवाई जहाज में यात्रा करते हुए नामचीन दुकानों और मॉल में आनेवाली महिलाओं को अपना लक्ष्य बनाया। वह पिछले दिनों अपनी हाथ की सफाई का उदाहरण देते हुए महिलाओं के बैग चोरी करते समय पुलिस के हाथों पकड़ी गई। पुलिस की हिरासत में मौजूद सिंगर मुनमुन हुसैन सिटी पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल हैं। उसके खिलाफ सैदाबाद और आबिड्स पुलिस थानों में तीन मामले दर्ज हैं। 
मुनमुन हुसैन पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले की रहनेवाली है। कुछ दिनों तक वह कोलकाता में सिंगर का काम करती रही। उसके बाद वह हैदराबाद में आकर रहने लगी। वह बार एण्ड रेस्टोरेंट में कैबरे सिंगर का काम करती रही। 
इसके अलावा वह गणेश उत्सव और विवाह समारोह में भी गाने गाती रही। हैदराबाद में कैबरे पर पाबंदी लगने के बाद वह आर्थिक रूप से परेशान हुई। शादी समारोह और गणेश उत्सव के दौरान उसने गाने गाने के साथ चोरी की घटनाओं को भी अंजाम देने लगी। 
चेन्नई के अन्ना नगर में रहनेवाले हीरो विशाल की मां जानकीदेवी के 2009 जून में हुए एक समारोह में वह शामिल हुई। उसी महीने 15 तारीख को वह पट्टु साडी खरीदी करने के लिए बशीरबाग के धर्मावरम सिल्क सारीज शो रूम में गई। 
दुकान में उसने अपनी हैंड बैग बाजू में रखा और साडियां देखने में मश्गुल हुई। कुछ देर बाद जब उसने अपना हैंड बैग देखा तो वहां से नदारद था। इस पर उसने सैदाबाद पुलिस थाने में शिकायत की। बैग में 65 हजार रुपये नकद और 30 लाख रुपये मूल्य के जेवरात, सेलफोन होने की बात शिकायत में कही। 
जिस दुकान में बैग नदारद हुआ, वह दुकान पुराना होने से उसमें सीसीटीवी कैमरे नहीं थे। इससे मामला सुलझाना, एक चुनौती बनी। इस पर पुलिस ने चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले पुराने आरोपियों से पूछताछ की गई। साड़ियां बेचने की दुकान होने से इस तरह चोरियां करनेवाली महिलाओं पर नजर रखी गई।  
पुलिस की पूछताछ के दौरान आखिरकार पता चला कि चिक्कडपल्ली के सूर्या नगर में रहने वाली मुनमुन  हुस्सैन उर्फ मुनमुन औरा उर्फ रचना का नाम सामने आया। उसकी गतिविधियों पर नजर रखी और पुलिस ने उसे 2009 में 12 अगस्त को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने चोरी के गुनाह को कबूल किया। 
पुलिस ने मुनमुन सेन को गिरफ्तार कर उसके द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर 30 लाख रुपये मूल्य के जेवरात, नकदी, सेलफोन और स्कूटी बरामद की। चोरी की राशि में से उसने 65 हजार रुपये ही खर्च किये थे। 
मुनमुन ने 2010 में 13 मई को एक बार फिर चोरी की। कुंदनबाग की एक पीड़िता ने आदर्श नगर के बालाजी ग्रांड बाजार आई। वहां पर मुनमुन ने उसकी बैग उड़ा दी। उसमें 20 नकद और एक तोला सोना था। 
इस मामले में सैफाबाद पुलिस ने मुनमुन को गिरफ्तार किया। इससे पहले उसके खिलाफ आबिड्स थाना क्षेत्र में उसने चोरी की। यहां पर पुलिस की उस पर पैनी नजर देख, वह बेंगलुरु चली गई। उसने वहां अपना ठिकाना बनाया। हवाई जहाज में यात्रा करते हुए वह अपनी हाथ की सफाई दिखाने लगी।   
उसने कर्नाटक, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में लगातार चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया। हाल ही में पिछले महीने 17 तारीख को मुंबई की क्राइम ब्रांच पुलिस ने गिरफ्तार किया। आपको बता दें कि मुनमुन हुसैन के खिलाफ हैदराबाद में गैरजमानती वारंट पेंडिंग में होने से यहां की पुलिस के लिए वह मोस्ट वांटेड है।  
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top