4 दिन में गिरफ्त में आया 9 लोगों का हत्यारा, कहा - हत्या से पहले सभी को खिलाई थी नींद की गोलियां

Warangal Police Solved Geesugonda Open Well murder case in Telangana - Sakshi Samachar

गुरुवार को मिली थी चाल लाशें

शुक्रवार को कुएं से निकली और पांच लाशें

वरंगल : तेलंगाना के वरंगल जिले के गीसुकोंडा मंडल के गोर्रेकुंटा गांव में एक कुएं से मिले नौ लोगों के शवों की गुत्थी को पुलिस ने आखिरकार सुलझा लिया है। पुलिस की पूछताछ में बिहार का प्रवासी मजदूर संजय कुमार ने स्वीकार किया है कि उसी ने एक साजिश के तहत दोस्तों के साथ मिलकर नौ लोगों को कुएं में फेंक दिया था।

पुलिस के मुताबिक संजय कुमार ने पहले सभी नौ लोगों को नींद की गोली खिलाई और उनके बेहोश होते ही कुछ दोस्तों की मदद से उन्हें बोरियों में भरा और जिन्दा रहते उन्हें कुएं में फेंक दिया। हालांकि आरोपी संजय कुमार ने बताया कि दिल्ली में रह रहे मकसूद आलम के दामाद खतूर के निर्देशन पर ही उसने ये हत्याएं की है। पुलिस की जांच संजय के व्हाट्सएप पर मकसूद की पत्नी और बेटी से चैट करने की बात सामने आई है।

गुरुवार को मिली थी चार लाशें

प्राप्त जानकारी के मुताबिक गत गुरुवार शाम तक कुएं से कुल चार लोगों की लाशें मिली थीं, जबकि शुक्रवार दोपहर तक उसी कुएं से और पांच लोगों के शव बरामद हुए। साई दत्ता ट्रेडर्स के बोरियां सिलने वाले गोदाम के बगल में स्थित कुएं से एकसाथ 9 लोगों के शव मिलने से पूरे राज्य में खलबली मची थी। पुलिस ने इनसबकी मौत की वजह जानने की कोशिश की। आपको बता दें कि गुरुवार को गोर्रेकुंटा गांव के सीमावर्ती क्षेत्र स्थित सुप्रिया कोल्ड स्टोरेज के निकट बोरियां सिलने वाले गोदाम के मजदूर मकसूद आलम (55), उसकी पत्नी निशा आलम (45), बेटी बुशरा खातून (20) सहित उसके तीन साल के बेटे की लाशें कुएं से बरामद हुई थीं।

शुक्रवार को कुएं से निकली और पांच लाशें

जबकि शुक्रवार को मकसूद के बेटे शाबाज आलम (19), सोहिल आलम (18) सहित उसी कारखाने में काम करने वाले बिहार के प्रवासी मजदूर श्याम कुमार शाह (21) और श्रीराम कुमार शाह (26) का अचानक लापता होना और उनके सेलफोन स्विचऑफ होने से पुलिस ने पहले उनपर शक किया, लेकिन मकसूद के परिवार की लाशों के साथ मकसदू के करीबी मोहम्मद शकील (30) नाम के ड्राइवर की लाश मिलने से कहानी ने नया मोड आया। 

इसे भी पढ़ें : 

सांप खरीदकर पत्नी को कटवाया, शात‍िर पत‍ि की थी ये चाल
मोहम्मद शकील की पहचान पश्चिम बंगाल के वेस्ट सिरिपुर निवासी के रूप में हुई। इसी क्रम में पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में संदिग्धों को हिरासत में लेकर अपने अंदाज में पूछताछ की और इस गुत्थी को सुलझा लिया। गौरतलब है कि पुलिस पहले से आशंका व्यक्त कर रही थी कि कुएं से जिन लोगों की लाशें मिली थी, उनसबकी हत्या हुई है।

Advertisement
Back to Top