'छींको और वायरस फैलाओ' पोस्ट पर इन्फोसिस कर्मचारी अरेस्ट, नौकरी से भी धो बैठा हाथ

 Infosys Sacks Employee Arrested in Bengaluru For Spread The Virus post - Sakshi Samachar

आरोपी ने पोस्ट में लिखा था, 'चलिए...खुले में छींकें और वायरस फैलाएं

इन्फोसिस कर्मचारी हुआ अरेस्ट

बेंगलुरु : इंफोसिस के उस सॉफ्टवेयर इंजीनियर को कंपनी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है जिसने कोरोना वायरस फैलाने के लिए लोगों से सार्वजनिक स्थानों पर छींकने को कहा था। तकनीकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी को शुरू में लगा कि व्यक्ति उसकी कंपनी का नहीं है। लेकिन बाद में कंपनी ने पुष्टि की कि मुजीब मोहम्मद उसका कर्मचारी था। साथ ही इसने कहा कि उसे कंपनी से निकाल दिया गया है। 
कंपनी ने की थी पोस्ट की जांच
कंपनी ने शुक्रवार देर रात ट्वीट किया, “इंफोसिस ने उसके एक कर्मचारी द्वारा सोशल मीडिया पर लिखे गए पोस्ट पर अपनी जांच पूरी कर ली है और हमें यकीन है कि यह गलत पहचान का मामला नहीं है।” कंपनी ने कहा कि कर्मचारी द्वारा सोशल मीडिया पर लिखा गया पोस्ट इंफोसिस आचार संहिता और उसकी जिम्मेदार सामाजिक साझेदारी की प्रतिबद्धता के खिलाफ है। 
कंपनी ने छीन ली नौकरी
उसने कहा, “इंफोसिस की नीति ऐसी हरकतों को कतई बर्दाश्त नहीं करने की है और इसी के अनुसार कर्मचारी की सेवाएं रद्द कर दी गई हैं।” मोहम्मद ने फेसबुक पर लिखा था, “चलिए हाथ मिलाते हैं, बाहर जाते हैं और खुले में छींकते हैं। वायरस फैलाते हैं।” उसे शुक्रवार की रात गिरफ्तार कर लिया गया था।

सोशल मीडिया पर फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में महिला गिरफ्तार
कोलकाता पुलिस ने यहां के एक सरकारी अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर के बारे में सोशल मीडिया पर फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में एक महिला को गिरफ्तार किया है। कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को बताया कि 29 वर्षीय महिला ने अपने सोशल नेटवर्किंग अकाउंट पर कहा था कि बेलियाघाटा आईडी अस्पताल में काम करने वाला डॉक्टर इस रोग से पीड़ित मरीजों का इलाज करते हुए कोविड ​​-19 से संक्रमित हो गया है। कोलकाता पुलिस की साइबर अपराध शाखा के अधिकारियों ने महिला को शुक्रवार रात गिरफ्तार किया। पुलिस अधिकारी ने महिला की पहचान उजागर किए बिना कहा कि आरोपी के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें अपलोड करने के खिलाफ शुक्रवार को चेतावनी दी थी।
 

Advertisement
Back to Top