गाजियाबाद में बारातियों समेत दूल्हा गिरफ्तार, सोचा था रात में पुलिस नहीं मिलेगी

 Ghaziabad police arrest dulha with barati lockdown break - Sakshi Samachar

बारातियों समेत दूल्हा धरा गया

ज्यादा होशियारी पड़ गयी भारी

बिना परमीशन के ले जा रहे थे बारात

गाजियाबाद :   कभी-कभी खुद को ज्यादा समझदार समझना मुश्किल में डाल देता है। कुछ ऐसा ही मामला गाजियाबाद में सामने आया है, जहां दूल्हे और बारातियों की होशियारी उन पर भारी पड़ गयी। देश भर में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लगा हुआ है, लोगों का घरों से निकलना मुश्किल है, ऐसे में पूरी बारात लेकर घर से निकल जाने को क्या कहा जाएगा, इन लोगों ने लॉकडाउन के उल्लंघन को सामान्य बात समझा और बारात लेकर निकल पड़े। 

 कोरोना  वायरस के चलते शहर में धारा 144 लगे होने के बाद भी लॉकडाउन का उल्लंघन करना रिश्तेदारों के साथ शादी करने जा रहे दूल्हे को बहुत मंहगा पड़ा। पुलिस ने दूल्हे सहित उसके बाकी 7 अन्य रिश्तेदार-दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया। घटना मुरादनगर थाना क्षेत्र की है।  यह जानकारी जिला पुलिस प्रवक्ता ने सोमवार देर रात दी। घटनाक्रम के मुताबिक, 12-13 अप्रैल की रात रावली रोड नेशनल हाईवे-58 पर पुलिस ने दो कारों को रोक लिया। कार में सवार लोगों से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वे लोग शादी के लिए दूल्हे को मेरठ लेकर जा रहे हैं।

दूल्हा और बाकी लोगों से पुलिस वालों ने जब शादी की इजाजत संबंधी कागजात मांगे, तो आरोपी पेश नहीं कर सके। लिहाजा दूल्हा व उसके साथ मौजूद बाकी सभी छह लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसएसपी गाजियाबाद कलानिधि नैथानी के मुताबिक, "पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने सोचा था कि रात के वक्त सड़क पर पुलिस नहीं मिलेगी। इसलिए आराम से मेरठ पहुंच जाएंगे। अगले दिन यानि निकाह के बाद मेरठ से वापसी भी रात के वक्त ही करेंगे। तो पुलिस की नजर में नहीं आएंगे।"

इसे भी पढ़ें :

इन राज्यों में कोरोना से निपटने में काम आ रही एक जैसी कार्यशैली- पढ़ें पूरी खबर​

लेकिन इन बारातियों की चालाकी काम नहीं आई, इन लोगों ने सोचा नहीं था कि रात में पुलिस इस तरह मिल जाएगी। गौरतलब है कि देश भर में लॉकडाउ लगा हुआ है, अगर बहुत जरूरी हो तो प्रशासन को सूचना देकर और उनसे परमीशन संबधित कागजात लेकर जाया जा सकता है। लेकिन दूल्हा और उसके परिजनों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया जिसका खामियाजा उन्हे भुगतना पड़ रहा है। 

Advertisement
Back to Top