महिला के सामने मास्‍टरबेट करने वाला देवरिया का दारोगा बर्खास्त, कारस्तानी सुन हैरान रह जाएंगे

Deoria Police PS In Charge Bhishampal Singh dismissed on Obscene Video - Sakshi Samachar

देवरिया में दारोगा पर अश्लीलता का आरोप

दागी दारोगा की नौकरी से हुई छुट्टी

उत्तर प्रदेश पुलिस का काला चेहरा 

देवरिया: उत्तर प्रदेश पुलिस के नित नए कारनामे वायरल होते रहे हैं। इसी फेहरिस्त में देवरिया के भटनी थाने के पूर्व थानाध्यक्ष भीष्मपाल सिंह यादव की नौकरी से छुट्टी हो गई है। यादव पर आरोप है कि वो महिला शिकायतकर्ता के सामने ही मास्टरबेट करने लगा। महिला ने जब इस बारे में वीडियो बनाकर उच्चाधिकारियों के पास शिकायत की तो दारोगा फरार हो गया। जिले के पुलिस कप्तान ने दारोगा की गिरफ्तारी के लिए 25 हजार का ईनाम घोषित किया था।  आखिरकार वर्दीवाला पुलिस के चंगुल में फंस ही गया। 

मामले में खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा एक्शन लेते हुए दारोगा भीष्मपाल सिंह यादव को बर्खास्त कर दिया है। महिला शिकायतकर्ता की तहरीर पर थाना भटनी में आईपीसी की धारा 354(क)/509/166 के तहत मामला दाखिल किया गया है। 

क्या है पौने तीन मिनट के वीडियो में 

पौने तीन मिनट के वायरल वीडियो में दारोगा भीष्मपाल सिंह की पोल खुलती नजर आती है। कमरे में कई महिलाएं बैठी हैं। महिला शिकायतकर्ता भी कमरे में ही मौजूद होती है। जबकि एक महिला दारोगा के बाईं ओर पहले से ही बैठी होती हैं। जबकि दूसरी महिला सामने। वायरल वीडियो में इंस्पेक्टर भीष्म पाल यादव बायीं तरफ बैठी महिला को बेहद अश्लील इशारा करता है। 

क्या है पूरा मामला

दरअसल पीड़ित युवती जमीन विवाद के एक मामले में मां के साथ थाने गई थी। मामला 22 जून की दोपहर का है। उस वक्त प्रभारी निरीक्षक भटनी भीष्मपाल सिंह यादव थाने में ही मौजूद थे। जबकि पीड़ित युवती की मां प्रभारी निरीक्षक को मामला बता रही थीं। भीष्मपाल सिंह यादव की हरकते उस दौरान पीड़िता को अजीब लगी। बात करते-करते प्रभारी निरीक्षक भीष्मपाल सिंह अश्लील हरकत करने लगा। जिसपर युवती ने मोबाइल से ही वीडियो बना लिया। युवती ने पहले तो ये वीडियो परिवार को दिखाया, इसके बाद इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया गया। 

पहले भी आ चुके हैं ऐसे मामले

यूपी में पुलिस विभाग को दागदार करने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले प्रतापगढ़ के जेठवारा के एक इंस्पेक्टर ने फरियादी को मां बहन की भद्दी भद्दी गालियां दी थी। जिसका ऑडियो भी वायरल हुआ था। उस मामले में भी विभाग ने आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की थी। 

आपे से बाहर हुआ कॉन्सटेबल

अभी हाल ही में शाहजहांपुर का एक मामला आया जिसमें कांस्टेबल को गलियाते हुए सुना गया। वो मकान खाली करने के विवाद में ही अपने ही साथी सिपाहियों पर बरस पड़ा और गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दे दी। वायरल आडियो की जांच के बाद कॉन्सटेबल पर भी कार्रवाई हुई है।

Advertisement
Back to Top