जीजा की लाश कार में लेकर घूमता रहा बदमाश, क्या था मामला- पढ़ें पूरी खबर ?

 Delhi man kills brother in law leaves deadbody in car after murder  - Sakshi Samachar

साले ने की जीजा की हत्या

लॉकडाउन में लाश लेकर घूमता रहा

दोबारा शादी कराने का लालच देकर की हत्या

नई दिल्ली :  दिल्ली में हत्या और लूट का अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। घटना में युवक ने अपने ही जीजा की हत्या कर दी और उसके बाद लॉकडाउन में जीजा की लाश कार में लेकर घंटों घूमता रहा।  दरअसल में ये दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 24 का मामला है जिसे सुलझाने में दिल्ली पुलिस के होश उड़े हुए थे। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने रोहिणी सेक्टर-24 में कार के अंदर मिले लावारिस शव का मामला सुलझा लिया ।

जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक हत्यारे शव को लॉकडाउन के सख्त पहरे में भी कार में लेकर घूमते रहे। मौका मिलने पर कार में शव छोड़कर फरार हो गये। मामला लूट का निकला। इस सिलसिले में पुलिस ने मृतक की पत्नी के भाई (साले) और उसके दोस्त को गिरफ्तार किया है।

रोहिणी जिले के एडिशनल पुलिस कमिश्नर एस.डी. मिश्रा के मुताबिक, गिरफ्तार हत्यारोपियों का नाम संदीप उर्फ देवा और सैफ अली खान है। दोनो आपस में दोस्त और आवारागर्द हैं। देवा आठवीं पास और सैफ अली खान पेशे से मंडी में लेबर है। इनके पास से लूट में हासिल दो लाख रुपये नकद और मोबाइल फोन भी मिला है।

 दिल्ली पुलिस कंट्रोल रुम को कार में शव रखे होने की सूचना मिली थी। सूचना पाकर थाना बेगमपुर पुलिस मौके पर गयी। सेक्टर -24 रोहिणी की पाकिर्ंग में लावारिस हाल में खड़ी मिली सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार में शव रखा था। शव के कान, मुंह और नाक में कपड़ा ठूंसा हुआ था। मरने वाले की पहचान ओमप्रकाश (50) निवासी प्रेम नगर किरारी के रुप में हुई।

हत्या की इस वारदात की जांच के लिए  पुलिस की  तीन टीमें बनाई गयीं थी । मामले की जांच में जुटी पुलिस टीम को मरने वाले शख्स ओमप्रकाश का मौके से मोबाइल गायब मिला। मोबाइल रिकार्ड खंगालने पर पुलिस देवा और सैफ अली खान तक जा पहुंची गयी । दोनो ने पूछताछ में कबूल लिया कि उन्होंने ओमप्रकाश की हत्या की है। पुलिस के मुताबिक देवा, ओमप्रकाश की पत्नी (जिसकी कुछ समय पहले बीमारी से मौत हो चुकी है) का सगा भाई है। यानि रिश्ते में ओमप्रकाश का साला है।

देवा को पता था कि, ओमप्रकाश पत्नी की मौत के बाद से ही दूसरी शादी को लिए परेशान है। इसके लिए वो कोई भी कीमत अदा कर सकता है। देवा ने इसी कमजोरी का फायदा उठाते हुए घटना वाले दिन ओमप्रकाश को फोन करके बुलाया। कहा कि, उसकी शादी के लिए महिला मिल गयी है। खर्चा दो लाख रुपये होगा। दो लाख रुपये साले देवा को देकर ओमप्रकाश शादी करने के लालच में तैयार हो गया। वो देवा के बताये स्थान पर पहुंच गया।

इसे भी पढ़ें :

संयुक्त राष्ट्र महासचिव की नजर अब वैज्ञानिकों पर, बोले-कोविड-19 का टीका ही एकमात्र उपाय​

मौका देखकर देवा और उसके साथी बदमाश सैफ अली खान ने कमरें में ही ओमप्रकाश की हत्या कर दी। इसके बाद उसके पास मौजूद 2 लाख रुपये लूट लिये। शव को ओमप्रकाश की ही कार में ले जाकर रोहिणी सेक्टर-24 की पार्किंग में छोड़ कर दोनो फरार हो गये।
 

Advertisement
Back to Top