आंध्र प्रदेश : नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में दोषी को मौत की सजा

Court Sentenced Death to culprit in Minor girl Rape and Murder case - Sakshi Samachar

आरोपी पेंटय्या उर्फ प्रकाश को मौत और आजीवन कारावास की सजा

विजयवाड़ा : विशेष महिला अदालत ने आंध्र प्रदेश में सनसनी फैला चुकी बालिका शांति (नाम बदला गया है) के अपहरण, दुष्कर्म और हत्या मामले में आरोपी पेंटय्या उर्फ प्रकाश (37) को पोक्सो एक्ट के तहत मौत और आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। जज जी प्रतिभा देवी ने आरोपी प्रकाश के खिलाफ दोषी होने की पुष्टि होने के बाद सजा सुनाई।

आपको बता दें कि 10 दिसंबर 2019 को स्थानीय गोल्लापुड़ी में शांति अपने घर के बाजू में रहे प्रकाश के घर में टीवी देखने गई। तब आरोपी की पत्नी स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को देखने गांव गई हुई थी। शराब के नशे में प्रकाश ने टीवी देखने आई शांति के साथ पहले दुष्कर्म किया और बाद में गला रेत कर हत्या कर दी।

हत्या करने के बाद प्रकाश ने बालिका के शव को एक गन्नी बैग में बांधकर घर में एक कोने में छिपाकर रख दिया। शाम को शांति की मां ने बेटी के दिखाई नहीं देने पर आजू बाजू में तलाशी की। प्रकाश भी उसके साथ तलाशी में शामिल हुआ। मगर शांति का पता नहीं चला। गांव से लौट आई प्रकाश की पत्नी ने गन्नी बैग में शांति के शव को देखा। तब हत्या का खुलासा हुआ।   

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। सुनवाई के दौरान अदालत में 35 गवाहों के बयान दर्ज किये गये। सोचने की बात यह है कि आरोपी प्रकाश की पत्नी ने खुद अदालत में पति को फांसी की देने का अदालत से आग्रह किया। जन अभियोजक के रूप में नारायण रेड्डी ने पैरवी की। आरोपी को मौत की सजा सुनाये जाने पर महिला संगठनों ने हर्ष व्यक्त किया है।

Advertisement
Back to Top