अधिक ब्याज के लालच में गई दंपति की जान, डेढ़ साल के बेटे के साथ की आत्महत्या

couple commits suicide by being lured by interest in palkaderu ap - Sakshi Samachar

आंध्र में अधिक ब्याज के लालच ने ली दंपति की जान

डेढ़ साल के बच्चे के साथ की आत्महत्या 

अमरावती: आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के पश्चिम गोदावरी (West godavari)  जिले के पालकोडेरु (Palkoderu) में दंपति ने पहले अपने डेढ़ साल के बेटे को जहर देकर मार दिया और फिर इसके तुरंत बाद दोनों ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। यह घटना मंगलवार को पश्चिम गोदावरी जिले के पालकोडेरु क्षेत्र के कुमुदवल्ली में हुई।

विस्तार से जानें तो पता चला कि चीडे परशुराम (45) और धनसावित्री (30) खेती करके अपना जीवन यापन कर रहे थे।  मंगलवार की सुबह इस दंपति ने अपने बेटे नागवेंकट श्रीनिवास के साथ कुमुदवल्ली के पास एक खेत में गए और वहीं आत्महत्या कर ली। मरने से पहले रिश्तेदारों को व्हाट्सएप मैसेज किया, मरने का कारण बताया पर उनके आने तक बहुत देर हो चुकी थी और तीनों दम तोड़ चुके थे। 

अधिक ब्याज के लालच ने ली जान 

धनसावित्री के ससुराल में चोडिशेट्टी हेमा नामक महिला रिश्तेदार थी जो चिट्ठियों का व्यापार करती थी और ब्याज से भी कमाई करती थी। उसका परिचय जब धनसावित्री से हुआ तो उसने उसे अधिक ब्याज का लालच दिया और उससे लगभग 9 लाख रुपये का कर्ज ले लिया। 

इसके बाद उसने धनसावित्री को अपनी बातों में फंसाया और उसे रिश्तेदारों से उधार पैसा लाकर देने को कहा और अधिक ब्याज का लालच भी दिया। हेमा की बातों में केवल धनसावित्री ही नहीं उसका पति भी आ गया और दोनों ने रिश्तेदारों से 25 लाख रुपये लेकर हेमा को दे दिये। 
  
जब रिश्तेदारों को इस बात का पता चला तो उन्होंने धनसावित्री पर पैसे वापस करने के लिए दबाव डाला। वहीं पता चला कि चोडिशेट्टी हेमा ने अब तक इसी तरह लोगों को लालच देकर एक करोड़ रुपये जमा कर लिए और किसी को देने का नाम नहीं ले रही। 
साथ ही ये भी पता चला कि हेमा गांव से भाग गई। 

इसे भी पढ़ें: 

अपने ही घर में घिरे चंद्रबाबू, बयानों से नाराज क्रिश्चियन सेल के 13 नेताओं ने दिया इस्तीफा

ये सारी बातें जानने के बाद लोगों का पैसा न चुका पाने और शर्मिंदगी के चलते इस दंपति ने मासूम बच्चे के साथ आत्महत्या कर ली। पुलिस ने संदिग्ध मौत का मामला दर्ज किया है।

Advertisement
Back to Top